बिहार मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना : Mukhyamantri Saat Nischay Yojana

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा Mukhyamantri Saat Nischay Yojana Part-2 जारी किया गया है। यह योजना बिहार राज्य में अगले 5 साल में होने वाले विकास की योजना का विजन दस्तावेज है। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश में स्वास्थ्य बुनियादी ढांचा रोजगार महिला सशक्तिकरण को मिलाकर कुल 7 क्षेत्रों में विकास किया जाएगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

हालांकि बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा 2015 में चुने जाने के बाद यह योजना शुरू किया गया था। यदि सीएम नीतीश कुमार मुख्यमंत्री के पद पर बरकरार रहते हैं, तो अगले 5 वर्षों में इस योजना को पूरा किया जाएगा।

हालांकि देखा जाए मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना का मुख्य उद्देश्य यही है कि समाज के लोगों को लुभाना और इस योजना के आधार पर उनसे वोट हासिल करना है। इस योजना का भाग 2 प्रदेश के प्रत्येक व्यक्ति कि जिंदगी को बेहतर बनाने पर केंद्रित है। जिसमें युवा, किसान, श्रमिक, छात्र, महिलाएं आदि शामिल हैं। चलिए इस आर्टिकल में हम मुख्यमंत्री बिहार सात निश्चय योजना के बारे में विस्तार से जानते हैं।

बिहार मुख्यमंत्री 7 निश्चय योजना क्या है?

बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार विधानसभा चुनाव से पहले जनता दल यूनाइटेड के जदयू में राज्य के विकास और आने वाले वर्षों में राज्य को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना भाग-2 की घोषणा की है। नीतीश कुमार जी ने कहा कि राज्य में चल रहे राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के शासन के दौरान जनता से किए गए वादों की पहली सेट के साथ सात निश्चय भाग-2 जारी किया गया है।

नया व्यवसाय स्थापित करने के लिए बिहार सरकार द्वारा 50% अनुदान जो अधिकतम ₹300000 तक होगी। इसके अलावा बिहार सरकार द्वारा ₹700000 तक के लोन पर 7% का अनुदान दिया जाएगा। इसके अलावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने महिला सशक्तिकरण को ध्यान में रखते हुए घोषणा की, कि कक्षा 12वीं की परीक्षा पास करने वाली प्रत्येक छात्रा को ₹25000 दिए जाएंगे। जब की स्नातक परीक्षा पास करने वाली प्रत्येक छात्रा को ₹50000 की आर्थिक मदद दी जाएगी।

इसके अलावा बिहार सरकार द्वारा ₹500000 तक ॠण पर कोई ब्याज नहीं लिया जाएगा। इसके अलावा अधिकतम ₹500000 तक की परियोजना लागत का 50% बिहार सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा। इस योजना के शुरू होने से आर्थिक सहायता प्राप्त करके बालिका आगे की पढ़ाई कर सकती है, इसके अलावा युवा अपना खुद का रोजगार शुरु कर सकते हैं।

Mukhyamantri Saat Nischay Yojana (Highlight)

आर्टिकल का नाममुख्यमंत्री सात निश्चय योजना
राज्यबिहार
शुरू किसने किया बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार
योजना शुरुआत की तिथि2015
लाभार्थी बिहार राज्य के नागरिक
उद्देश्य महिला सशक्तिकरण, युवा, किसान के जीवन स्तर को बेहतर बनाना
ऑफिसियल वेबसाइट Click Here

मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना का लाभ

बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा शुरू किया गया मुख्यमंत्री 7 निश्चय योजना से प्रदेश के नागरिकों को निम्नलिखित लाभ होंगे। जो इस प्रकार है-

  • इस योजना के अंतर्गत प्रदेश में सड़कों का मरम्मत इसके अलावा नई सड़कों का निर्माण किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य में बिजली को बेहतर बनाया जाएगा, ताकि बिजली ना होने से प्रदेश के नागरिक परेशान ना हो।
  • इस योजना के अंतर्गत प्रदेश को स्वच्छ बनाने के लिए गरीब परिवार के घरों में शौचालय की व्यवस्था की जाएगी। ताकि खुले में शौच ना जाना पड़े और वातावरण शुद्ध रहे।
  • इस योजना के अंतर्गत प्रदेश में बालक बालिकाओं की शिक्षा को और बेहतर बनाने के लिए कॉलेजों का निर्माण किया जाएगा।
  • Mukhyamantri Saat Nischay Scheme के अंतर्गत महिला सशक्तिकरण पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। 12वीं की परीक्षा पास करने वाली छात्रा को ₹25000 जबकि स्नातक परीक्षा पास करने वाली छात्रा को ₹50000 की आर्थिक मदद दी जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत महिला सशक्तिकरण को ध्यान में रखते हुए महिला के जीवन को और बेहतर बनाने के लिए रोजगार के क्षेत्र में 35% का आरक्षण दिया जाएगा।

सात निश्चय योजना के अंतर्गत आने वाली योजनाएं

दोस्तों जैसा कि ऊपर आर्टिकल में हमने आपको बताया मुख्यमंत्री 7 निश्चय स्कीम के अंतर्गत महिला सशक्तिकरण, युवा, किसान, शिक्षा आदि क्षेत्र में विकास किया जाएगा। मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के अंतर्गत नीचे दी गई निम्नलिखित योजनाओं को शामिल किया गया है।

  • आर्थिक हल युवाओं को बल
  • आरक्षित रोजगार महिलाओं का अधिकार
  • हर घर बिजली
  • हर घर नल का जल
  • घर तक पक्की गली और नाली
  • शौचालय निर्माण
  • घर का सम्मान
  • अवसर बढ़े, आगे बढ़े

आर्थिक हल युवाओं को बल

इस योजना के अंतर्गत विशेष योजनाएं और नीतियां लागू की गई है, जिससे राज्य के युवाओं को बल मिल सके। और वे अपना खुद का रोजगार शुरु कर सके। युवाओं को रोजगार में बढ़ावा देने के लिए बिहार सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत 500000 तक ॠण पर कोई ब्याज नहीं लिया जाएगा। इसके अलावा अधिकतम ₹500000 तक की परियोजना लागत का 50% बिहार सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा।

बिहार छात्र ॠण योजना

जो छात्र और छात्राएं गरीबी के चलते आगे की पढ़ाई नहीं कर पाते हैं, उनके लिए बिहार सरकार द्वारा बिहार छात्र ॠण योजना शुरू की गई है। इस योजना के अंतर्गत कक्षा 12वीं की परीक्षा पास करने वाले छात्र और छात्राओं को ₹400000 तक शिक्षा ॠण प्रदान किया जाएगा। अब 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद छात्र और छात्राएं बिहार राज्य शिक्षा वित्त निगम की गारंटी पर ₹400000 तक का शिक्षा लोन ले सकते हैं। 

मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना

इस योजना के अंतर्गत राज्य में रहने वाले बेरोजगार युवक जो रोजगार पाने के लिए भटक रहे हैं, जिनकी उम्र 20 से 25 वर्ष के बीच में है, ऐसे बेरोजगार युवाओं को 2 वर्ष तक ₹1000 प्रतिमाह प्रदान किया जाएगा। मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना का लाभ उठाने वाले सभी युवाओं को हिंदी, अंग्रेजी भाषा और संचार कौशल, बुनियादी कंप्यूटर ज्ञान, सॉफ्ट कौशल में प्रशिक्षण के लिए अनिवार्य नामांकन करना होगा।

कुशल युवा कार्यक्रम

कुशल युवा कार्यक्रम के अंतर्गत प्रदेश के रहने वाले युवा जिनकी उम्र 15 से 28 वर्ष के बीच में है, जो 10वीं या समकक्ष पास कर चुके हैं। ऐसे युवाओं को हिंदी, अंग्रेजी भाषा और संचार कौशल, बुनियादी कंप्यूटर ज्ञान, सॉफ्ट कौशल में प्रशिक्षण प्राप्त करना होगा। कुल प्रशिक्षण का समय 240 घंटे का है। जिसमें 120 घंटे का बुनियादी कंप्यूटर कौशल, 80 घंटे का हिंदी इंग्लिश भाषा और संचार कौशल तथा 40 घंटे का सॉफ्ट कौशल शामिल किया गया है।

बिहार स्टार्टअप नीति

बिहार औद्योगिक निवेश नीति 1 सितंबर 2016 को शुरू की गई थी। इस नीति के तहत निम्नलिखित प्राथमिकता वाले क्षेत्र जैसे : खाद्य प्रसंस्करण, कपड़ा और तकनीकी, पर्यटन, स्वास्थ्य सेवाएं, लघु मशीन उत्पादन, चमड़ा, सूचना प्रौद्योगिकी, प्लास्टिक और रबड़, इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स, हार्ड वेयर, क्षेत्रों की पहचान की जाएगी।

इसके अलावा बिहार औद्योगिक विशेष नीति में कई प्रोत्साहन को शामिल किया गया है। इस अधिनियम के तहत आने वाले औद्योगिक इकाई एक सामान्य आवेदन पत्र के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन पत्र प्राप्त होने के 30 दिनों के भीतर राज्य निवेश संवर्धन परिषद को स्वीकृति देनी होगी।

विश्वविद्यालय और कॉलेजों में मुफ्त वाई-फाई सुविधा

वर्तमान समय में युवाओं और समाज का डिजिटल दुनिया में झुकाव को देखते हुए बिहार सरकार द्वारा विश्वविद्यालय और कॉलेज में मुफ्त वाई-फाई की सुविधा छात्रों को दी जाएगी। ताकि छात्र और छात्राएं मुक्त वाई फाई सुविधा का यूज करके अपनी पढ़ाई कर सकें, इसके अलावा राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हो रही घटनाएं, बदलते परिदृश्य, विकास और समाचार के बारे में जागरूक हो सके। प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय और कॉलेजों में मुफ्त वाई-फाई सुविधा छात्र छात्राओं को दी जाएगी। जो शिक्षा के क्षेत्र में छात्र छात्राओं के लिए मददगार साबित होगा।

आरक्षित रोजगार महिलाओं का अधिकार

इस योजना के अंतर्गत बिहार सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण को बढ़ाने के लिए राज्य सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 35% आरक्षण प्रदान कर रही है। इसके अलावा 12वीं की परीक्षा पास करने वाली छात्रा को ₹25000 आर्थिक सहायता तथा स्नातक की परीक्षा पास करने वाली छात्रा को ₹50000 की आर्थिक सहायता दी जा रही है। ताकि छात्रा आगे की पढ़ाई कर सकें और 35% आरक्षण का लाभ उठाकर सरकारी नौकरी पा सके। 

हर घर बिजली

जैसा कि आप जानते हैं आज के समय में बिजली हर व्यक्ति के जीवन का एक अहम हिस्सा बन गया हैI बिजली से चलने वाले सारे उपकरण जो मानव के जीवन को और आसान बना देते हैंI इसलिए बिहार सरकार द्वारा हर घर बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया हैI राज्य के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित करना हैI

हर घर नल का जल

बिहार में प्रत्येक नागरिकों को बिना किसी भेदभाव के नल का जल उपलब्ध करवाना है। बिहार के गांव और मोहल्ला जहां पर नल के जल की कमी है, वहां पर नल की व्यवस्था करना है। इसके अलावा सार्वजनिक स्थान पर लोगों को पीने के लिए शुद्ध नल के जल की व्यवस्था करना है। राज्य के लगभग दो करोड़ घरों में नल लगवा कर स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाने का उद्देश्य है।

योजना से जुड़ी तीन नई योजनाएं

मुख्यमंत्री 7 निश्चय स्कीम से तीन अन्य निम्नलिखित योजनाओं को जोड़ा गया है। जो इस प्रकार है-

मुख्यमंत्री शहरी नाली गली निश्चय योजना

इस योजना के अंतर्गत राज्य के 143 शहरी स्थानीय निकायों में प्रत्येक गली में व्यवस्थित नाली का निर्माण करना है। ताकि बरसात के मौसम में नाली के माध्यम से शहरी क्षेत्रों का जल आसानी से जल निकासी के माध्यम से बाहर जा सके। शहरी क्षेत्रों से नाली के माध्यम से गंदे जल को शहर से बाहर निकालकर शहर को स्वच्छ बनाने का उद्देश्य है।

मुख्यमंत्री ग्रामीण गली नाली निश्चय योजना

इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र 8386 ग्राम पंचायत की लगभग 114691 ग्रामीण बाड़ों में जल निकासी की व्यवस्था करनी है। ग्रामीण क्षेत्रों में नाली की व्यवस्था ना होने के कारण बरसात के मौसम में जगह-जगह पानी इकट्ठा हो जाता है, गंदे पानी में मच्छर पैदा हो जाते हैं, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोग बीमार पड़ते हैं। इसलिए इस योजना के अंतर्गत राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में पक्की नाली की व्यवस्था करना ताकि बारिश के पानी और गांव से निकलने वाले गंदे पानी को जल निकासी के माध्यम से बाहर निकाला जा सके।

ग्रामीण टोला संपर्क निश्चय योजना

11 जिलों में 250 या उससे अधिक आबादी वाली आवास तथा सभी जिलों में 500 से अधिक आबादी वाले आवास को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना या मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत कनेक्टिविटी प्रदान की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत 13786 बसावटों को निश्चित किया गया है, जिसे रोड मार्ग के माध्यम से एक दूसरे से कनेक्ट किया जाएगा। ताकि यहां पर रहने वाले लोगों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने में कोई परेशानी ना हो।

मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना में आवेदन कैसे करें?

मुख्यमंत्री सात निश्चय स्कीम में आवेदन करने की प्रक्रिया बहुत ही आसान है। सात निश्चय योजना में आवेदन करने के लिए नीचे दिए गए निम्नलिखित प्रक्रिया को फॉलो करें।

  • सबसे पहले आवेदक को शिक्षा विभाग, योजना एवं विकास विभाग एवं श्रम संसाधन विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन के बाद योजना के हिसाब से जरूरी दस्तावेजों की फोटोकॉपी अपलोड करना है। इस प्रकार आप इस योजना के के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।
  • अगर आप ऑनलाइन आवेदन नहीं कर पा रहे हैं, तो आप पंचायत मुखिया से संपर्क करके ऑफलाइन तरीके से योजना में आवेदन कर सकते हैं।

Mukhyamantri Saat Nischay Yojana का अवलोकन

क्रं संयोजना के अंतर्गत राशि
1.नीतीश के 7 निश्चय के लिए कुल निवेश2.75 लाख करोड़ से अधिक
2.बिहार में उच्च शिक्षा में सुधार के लिएरु.10, 300 Crores
3.शौचालय निर्माण के लिए निवेश रु. 28,700 Crores
4.पेयजल में सुधार के लिए 5 निवेश रु. 47,700 Crores
5.युवा रोजगार में सुधार के लिए निवेशरु. 49,800 Crores
6. बिजली में सुधार के लिए निवेशरु. 55,600 करोड़
7.सड़कों/ड्रेनेज में सुधार के लिए निवेशरु. 78,000 करोड़

सात निश्चय योजना का उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य समाज के एक बड़े वर्ग को वोट हासिल करने के लिए लुभाना, इसके साथ-साथ लोगों के जीवन स्तर को बेहतर बनाना है। इस योजना के अंतर्गत महिला, किसान, श्रमिक, छात्र, युवा पर विशेष ध्यान केंद्रित किया गया है।

बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए स्थानीय प्रशासन, पुलिस, जिला स्तर के कार्यालयों में महिला को राज्य सरकारी नौकरी में 35% का आरक्षण दिया है। इस योजना के अंतर्गत किसान को खेती करने के लिए पानी की व्यवस्था की गई है।

इसके अलावा 12वीं की परीक्षा पास करने वाली छात्राओं को ₹25000 जबकि स्नातक की परीक्षा पास करने वाली छात्राओं को ₹50000 आर्थिक मदद दिया जाएगा। इस योजना का मुख्य उद्देश्य घर-घर शौचालय हो, हर घर नल का पानी की व्यवस्था हो, हर घर बिजली की व्यवस्था हो।

सात निश्चय योजना प्रश्नोत्तर

1. सात निश्चय योजना कब शुरू हुई?

यह 2015 में शुरू हुई थीI

2. सात निश्चय योजना किस राज्य की योजना है?

बिहार राज्य की योजना हैI

3. मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना किसके द्वारा शुरू की गई थी?

बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा 2015 में शुरू की गई थी।

4. सात निश्चय योजना के अंतर्गत आने वाली योजनाएं कौन-कौन सी है? 

सात निश्चय योजना के अंतर्गत आने वाली योजनाएं : आर्थिक हल युवाओं को बल, आरक्षित रोजगार महिला का अधिकार है, हर घर बिजली, हर घर नल का जल, घर तक पक्की गली नालियां, शौचालय निर्माण घर का सम्मान, अवसर बढ़े आगे बढ़े 

इसे भी पढ़ें 👇

बिहार पशु शेड योजना
बिहार चरित्र प्रमाण पत्र ऑनलाइन कैसे बनवाएं
बिहार बकरी पालन योजना
बिहार में अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति की सूची
बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड स्टेटस कैसे चेक करें
बिहार व्हीकल रजिस्ट्रेशन डिटेल्स कैसे निकालें
बिहार जमाबंदी नंबर चेक कैसे करें
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment