ITI का Full Form क्या है | आईटीआई से जुड़ी पूरी जानकारी [सवाल और जवाब]

ITI Full Form in Hindi | ncvt full form | iti full form in police | iti full form image | iti full form in delhi | iti full form in railway | iti full form pdf | आईटीआई फुल फॉर्म

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं आज के समय में बेरोजगारी कितनी तेजी से बढ़ रही है| अच्छी खासी पढ़ाई करने के बाद भी युवा बेरोजगार है| ऐसे में युवा समझ नहीं पाते कि क्या किया जाए ताकि कम कंपटीशन में ही कोई रोजगार मिल जाए| दोस्तों मैं आपको बताना चाहता हूं अगर आप हाई स्कूल या इंटर पास है तो आप आईटीआई कर सकते हैं| आईटीआई में उपलब्ध पाठ्यक्रम के अनुसार 6 महीने से लेकर 2 साल का कोर्स होता है|

ITI करने के बाद आप किसी एक ट्रेड से संबंधित अपने अंदर कौशल विकास पैदा कर लेते हैं| जिसके उपरांत आप किसी कंपनी में काम कर सकते हैं अथवा अपना स्वरोजगार शुरू कर सकते हैं| इस प्रकार आप आईटीआई करके बेरोजगार की श्रेणी में आने से बच सकते हैं| आज के इस आर्टिकल में आपको पूरे विस्तार से यही बताने वाला हूं जैसे ITI Full Form क्या है, और आईटीआई से संबंधित और सभी जानकारी| इसलिए इस आर्टिकल को ध्यान पूर्वक पूरा पढ़िएगा|

Contents

ITI का Full Form क्या है?

आईटीआई का फुल फॉर्म हिंदी में : औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान

ITI Full Form in English : Industrial training Institute

आईटीआई क्या होता है?

आईटीआई का मतलब औद्योगिक प्रशिक्षण इंस्टिट्यूट होता है| आईटीआई संस्थानों में High school या फिर Inter करने वाले छात्र एडमिशन ले सकते हैं| ITI Institute में छात्रों को औद्योगिक प्रशिक्षण दिया जाता है| जिसमें अलग-अलग Tred होते हैं जैसे : इलेक्ट्रिशियन, वायरमैन, फिटर, ड्राफ्ट्समैन, कोपा, डीजल, मैकेनिक, इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक, मोटर व्हीकल मैकेनिक आदि| इन ट्रेड से आईटीआई करने के बाद छात्र इससे संबंधित किसी कंपनी में काम कर सकते हैं या फिर अपना कोई रोजगार शुरु कर सकते हैं| आईटीआई संस्थान में Admissions लेने के लिए कोई भी छात्र दो तरीके से ले सकता है NCVT और SCVT| अगर आप एससीबीटी के अंतर्गत आईटीआई करते हैं, तो आपका ITI Certificate पूरे भारत में मान्य होगा| और अगर आप एससीवीटी के अंतर्गत आईटीआई करते हैं, तो आपका आईटीआई सर्टिफिकेट केवल उसी राज्य में मान्य होगा|

NCVT और SCVT क्या होता है?

एनसीवीटी का मतलब National Council For Vocational Training (नेशनल काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग) होता हैं| एससीवीटी का मतलब State Council For Vocational Training (स्टेट काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग) होता हैं| अगर आप आईटीआई करना चाहते हैं तो ज्यादातर कोशिश करिए कि एनसीवीटी से आईटीआई करें| क्योंकि अगर आप एनसीवीटी के अंतर्गत ITI करते हैं तो आपके आईटीआई सर्टिफिकेट की मान्यता पूरे भारत में होगी|

वहीं पर अगर आप एससीवीटी के अंतर्गत आईटीआई करते हैं, तो आपके आईटीआई सर्टिफिकेट की मान्यता केवल उसी राज्य तक सीमित रहेगी, जिस राज्य से आप आईटीआई करते हैं| और आप उसी राज्य से निकलने वाली सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं| और अगर आप एनसीवीटी से आईटीआई करते हैं तो आप भारत सरकार तथा सभी राज्यों के द्वारा निकलने वाली सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं|

भारत में उपलब्ध आईटीआई (ITI) का पाठ्यक्रम

पाठ्यक्रम की प्रकृति के आधार पर हम आईटीआई कक्षाओं को दो श्रेणियों में विभाजित करते हैं|

गैर-इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम

दैनिक जीवन और प्रबंध से संबंधित अध्ययन कराए जाने वाली ट्रेडों को गैर इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम के तहत रखा जाता है| गैर इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम श्रेणी के अंतर्गत अधिकांश पाठ्यक्रमों की अवधि 6 महीने से 1 वर्ष तक होती है|

इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम

तकनीकी विषयों का अध्ययन इंजीनियरिंग आईटीआई पाठ्यक्रम या ट्रेड कहलाता है| इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम के अंतर्गत जैसे : गणित, भौतिक, तकनीकी थ्योरी, प्रैक्टिकल आदि का अध्ययन कराया जाता है, इसकी अवधि आमतौर पर 2 वर्ष की होती है|

इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम तथा गैर इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम की सूची

  • इलेक्ट्रिशियन (Electrician)
  • फिटर (Fitter)
  • मैकेनिकल (Mechanical)
  • सर्वेयर (Surveyor)
  • आईटी (IT)
  • टूल एंड डाई मेकर इंजीनियरिंग (Tool & Die Maker Engineering)
  • ड्राफ्ट्समैन इंजीनियरिंग (Draughtsman (Mechanical) Engineering)
  • डीजल मैकेनिक इंजीनियरिंग (Diesel Mechanic Engineering)
  • पंप ऑपरेटर (Pump Operator)
  • मोटर ड्राइविंग सह मैकेनिक इंजीनियरिंग (Motor Driving-cum-Mechanic Engineering)
  • टर्नर इंजीनियरिंग (Turner Engineering)
  • ड्राफ्ट्समैन (सिविल) इंजीनियरिंग (Draughtsman (Civil) Engineering)
  • ड्रेस मेकिंग (Dress Making)
  • निमार्ण फुट वियर (Manufacture Foot Wear)
  • सूचना प्रौद्योगिकी और ईएसएम इंजीनियरिंग (Information Technology & E.S.M. Engineering)
  • सचिवीय अभ्यास (Secretarial Practice)
  • मशीनिस्ट इंजीनियरिंग (Machinist Engineering)
  • बालों और त्वचा की देखभाल (Hair & Skin Care)
  • रेफ्रिजरेटर इंजीनियरिंग (Refrigeration Engineering)
  • फल एवं सब्जी प्रसंस्करण (Fruit & Vegetable Processing)
  • मेच इंस्ट्रूमेंट इंजीनियरिंग (Mech. Instrument Engineering)
  • ब्लीचिंग और डाइंग केलिको प्रिंट (Bleaching & Dyeing Calico Print)
  • पोत नेविगेटर (Vessel Navigator)
  • वायरमैन (Wireman)
  • केविन या रूम अटेंडेंट (Cabin or Room Attendant)
  • कंप्यूटर ऐडेड एंब्रायडरी एंड डिजाइनिंग (Computer-Aided Embroidery And Designing)
  • कारपोरेट हाउस कीपिंग (Corporate House Keeping)
  • परामर्श कौशल (Counseling Skills)
  • क्रेच प्रबंधन (Creche Management)
  • चालक सह मैकेनिक (Driver Cum Mechanic)
  • तथ्य दाखिला प्रचालक (Data Entry Operator)
  • डोमेस्टिक हाउस कीपिंग (Domestic House Keeping)
  • इवेंट मैनेजमेंट असिस्टेंट (Event Management Assistant)
  • फायरमैन (Firemen)
  • फ्रंट ऑफिस असिस्टेंट (Front Office Assistant)
  • अस्पताल अपशिष्ट प्रबंधन (Hospital Waste Management)
  • इंस्टिट्यूशन हाउस कीपिंग (Institution House Keeping)
  • बीमा एजेंट (Insurance Agent)
  • बुनाई तकनीक (Weaving Technician)
  • पुस्तकालय और सूचना विज्ञान (Library & Information Science)
  • चिकित्सकीय लिप्यंतरण (Medical Transcription)
  • नेटवर्क तकनीशियन (Network Technician)
  • वृद्धावस्था देखभाल सहायक (Old Age Care Assistant)
  • पैरा लीगल असिस्टेंट या मुंशी (Para Legal Assistant or Munshi)
  • प्रारंभिक स्कूल प्रबंधन (Preparatory School Management)
  • स्पा थेरेपी (Spa Therapy)
  • पर्यटक गाइड (Tourist Guide)
  • बेकर और हलवाई (Baker & Confectioner)
  • वेब डिजाइनिंग और कंप्यूटर ग्राफिक्स (Web Designing and Computer Graphics)
  • वेंत बिलो और बास कार्यकर्ता (Cane Willow and Bamboo Worker)
  • खानपान और अतिथ्य सहायक (Catering and Hospitality Assistant)
  • कंप्यूटर ऑपरेटर और प्रोग्रामिंग असिस्टेंट (Computer Operator and Programming Assistant)
  • शिल्पकार खाद्य उत्पादन “समान्य” (Craftsman Food Production (General))
  • शिल्पकार खाद्य उत्पादन “मांसाहारी” (Craftsman Food Production (Vegetarian)
  • काटना और सिलाई (Cutting and Sewing)
  • डेस्कटॉप पब्लिशिंग ऑपरेटर (Desktop Publishing Operator)
  • डिजिटल फोटोग्राफर (Digital Photographer)
  • पोशाक बनाना (Dress Making)
  • भूतल अलंकरण तकनीकी (Surface Ornamentation Techniques)
  • फैशन डिजाइनिंग और प्रौद्योगिकी (Fashion Design and Technology)
  • वित्त कार्यकारी (Finance Executive)
  • अग्नि प्रौद्योगिकी (Fire Technology)
  • फूलों की खेती और भूनिर्माण (Floriculture and Landscaping)
  • फुटवियर निर्माता (Footwear Maker)
  • बेसिक कॉस्टमेटोलॉजी (Basic Cosmetology)
  • स्वास्थ्य सुरक्षा और पर्यावरण (Health Safety and Environment)
  • स्वास्थ्य स्वच्छता निरीक्षक (Health Sanitary Inspector)
  • बागवानी (Horticulture)
  • अस्पताल हाउस कीपिंग (Hospital House Keeping)
  • मानव संसाधन कार्यकारी (Human Resource Executive)
  • चमड़े के सामान निर्माता (Leather Goods Maker)
  • लिथो ऑफसेट मशीन माइंडर (Litho Offset Machine Minder)
  • विपरण कार्यकारी (Marketing Executive)
  • मल्टीमीडिया एनीमेशन और विशेष प्रभाव (Multimedia Animation and Special Effects)
  • कार्यालय सहायक सह कंप्यूटर ऑपरेटर (Office Assistant cum Computer Operator)
  • प्लेट निर्माता सह धोखेबाज (Plate Maker cum Impostor)
  • फलों और सब्जियों का संरक्षण (Preservation of Fruits and Vegetables)
  • प्रक्रिया कैमरामैन (Process Cameraman)
  • सचिवीय अभ्यास (Secretarial Practice)
  • फोटोग्राफर (Photographer)

आईटीआई के Top 10 ट्रेड

ITI में वैसे बहुत सी ट्रेड होती है जिसके विषय में हमने इस आर्टिकल में बताया हुआ है| लेकिन अगर देखा जाए लगभग आईटीआई की Top 10 Tred जो सभी ITI College में उपलब्ध होते हैं| और ज्यादातर विद्यार्थी इन्हीं Treds से आईटीआई करते हैं|

फिटर (Fitter)

फिटर से आईटीआई करना भी काफी लोकप्रिय में है| फिटर से ITI करने का Deploma 2 साल का होता है, जिसके दौरान आपको फिटर से जुड़ी तमाम चीजों के बारे में बारीकी जानकारी दी जाती है, इसके साथ-साथ प्रेक्टिकल भी कराया जाता है| फिटर से आईटीआई करने के बाद आप Goverment Job के लिए तैयारी कर सकते हैं अथवा किसी प्राइवेट कंपनी में काम कर सकते हैं| क्योंकि कंपनियों में हमेशा फिटर मैकेनिक की आवश्यकता बनी रहती है|

इलेक्ट्रिशियन (Electrician)

इलेक्ट्रीशियन ट्रेड से भी आप ITI डिप्लोमा कर सकते हैं इलेक्ट्रीशियन ट्रेड से आईटीआई की अवधि 2 वर्ष की होती है| जिसके अंतर्गत आपको इलेक्ट्रिकल से संबंधित जैसे : पंखा, मिक्सर, मोटर, कूलर, वाशिंग मशीन, फ्रिज, घर की वायरिंग करना आदि के बारे में पढ़ाया जाता है और प्रैक्टिकल कराया जाता है| इलेक्ट्रीशियन से आईटीआई करने के बाद आप प्राइवेट कंपनी में नौकरी कर सकते हैं और अगर चाहे तो अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं| आज के समय में इलेक्ट्रिशियन की मांग शहर से लेकर गांव गांव तक हर जगह है|

वेल्डर (Welder)

वेल्डर ट्रेड से भी आप आईटीआई कर सकते हैं लेकिन हां इस ट्रेड में थोड़ा मेहनत ज्यादा लगता है| वेल्डर ट्रेड डिप्लोमा की अवधि 2 वर्ष की होती है| इस ट्रेड से आईटीआई करने के बाद आप फैक्ट्री में नौकरी कर सकते हैं, जहां पर वेल्डिंग का काम किया जाता है| इसके अलावा अगर आप चाहे तो अपना खुद का दुकान खोल सकते हैं जहां पर लोहे का गेट बनाना, खिड़की बनाना, लोहे का दरवाजा बनाना, वेल्डिंग करना आदि काम करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं|

कोपा (Copa)

आपको कोपा ट्रेड से भी ITI कर सकते हैं, जिसकी कार्य अवधि 1 साल की होती है| COPA (Computer Operator and Programming Assistant) ट्रेड के अंतर्गत आपको आपको Tally, Data Entry, Hardware and Software, MS Office, आदि के बारे में गहराई से जानकारी दी जाती है| Copa Tred से आईटीआई करने के बाद आप Programming Assistant, Data Entry, Computer Operator आदि प्रकार की नौकरी अपनी कार्यकुशलता के आधार पर पा Jan Sewa Kendra खोल सकते हैं जहां पर आप ऑनलाइन फॉर्म भरना, किसी योजना का आवेदन करना, आधार कार्ड से पैसा निकालना, राशन कार्ड में नाम जोड़ना आदि कार्य कर सकते हैं|

स्टेनोग्राफर (Stenographer)

स्टेनोग्राफर से भी आप ITI डिप्लोमा कर सकते हैं, आज के दौर में इस ट्रेड की भी बहुत मांग है| स्टेनोग्राफर के अंतर्गत आपको टाइपिंग और शाफ्ट हैंड टाइपिंग सिखाई जाती है| स्टेनोग्राफर पाठ्यक्रम से आईटीआई करने के बाद आप डाटा कंप्यूटर इन तरीका जॉब कर सकते हैं| स्टेनोग्राफर आईटीआई करने के लिए आपके सामने दो विकल्प होते हैं, १.Hindi Stenographer, २. English Stenographer दोनों ही विकल्प की आज भी काफी ज्यादा मांग है|

डीजल मैकेनिक (Diesal Mechanic)

अगर आपको डीजल वाहनों के बारे में ज्यादा दिलचस्पी है तो आप डीजल मैकेनिक से आईटीआई कर सकते हैं| यह ट्रेड भी 2 साल का होता है, डीजल मैकेनिक के अंतर्गत आपको डीजल वाहनों से चलने वाली गाड़ियों के बारे में पूरी जानकारी उसके इंजन को खोलना, बांधना आदि के बारे में सिखाया जाता है| डीजल मैकेनिक से ITI करने के बाद आप परिवहन विभाग में सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं| इसके अलावा आप रोड पर अपनी दुकान खोल सकते हैं, जहां पर डीजल वाहनों से चलने वाली गाड़ियों की मरम्मत करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं|

वायरमैन (Wireman)

वायरमैन ट्रेड से आईटीआई आप कर सकते हैं यह ट्रेड भी 2 वर्ष का होता है| Wireman Tred के अंतर्गत आपको इलेक्ट्रिकल सबस्टेशन, ट्रांसमिशन, डिस्ट्रीब्यूशन आदि की वायरिंग के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से बताई जाती है| वायरमैन से आईटीआई करने के बाद आप उत्तर प्रदेश की नौकरी यूपीपीसीएल तथा इसी प्रकार से अन्य राज्यों की Electrical Department में आवेदन कर सकते हैं| इसके अलावा आप कंपनी में भी Wireing कर सकते हैं अथवा घर की वायरिंग का भी काम कर सकते हैं|

इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक (Electronic Mechanic)

इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक ट्रेड से भी आप ITI कर सकते हैं, यह ट्रेड भी 2 वर्ष का होता है| इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक के अंतर्गत आपको इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे : एलईडी, सीसीटीवी, आई सी, इलेक्ट्रॉनिक सर्किट आदि के बारे में पढ़ाया जाता है| इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक ट्रेड से आईटीआई करने के बाद आप BSNL, ISRO, BHEL जैसी कंपनियों में भी नौकरी करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं| या फिर अगर आप चाहे तो अपना खुद का दुकान खोल कर एलईडी, सीसीटीवी, टीवी, रिपेयर करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं|

मोटर व्हीकल मैकेनिक (Motor Vehicle Mechanic)

मोटर व्हीकल मैकेनिक ट्रेड से भी आप आईटीआई कर सकते हैं, मोटर व्हीकल मैकेनिक ट्रेड लगभग डीजल मैकेनिक तथा ऑटोमोबाइल से मिलता-जुलता ट्रेड है| मोटर व्हीकल मैकेनिक से आईटीआई करने के बाद आप मोटरसाइकिल, कार, स्कूटर आदि के बारे में अच्छी जानकारी पा सकते हैं| इस ट्रेड से आईटीआई करने के बाद आप मोटरसाइकिल, कार बनाने वाली कंपनी में नौकरी कर सकते हैं या फिर अपना खुद का दुकान खोल सकते हैं|

ड्राफ्टमैन (Draughtsman)

ड्राफ्टमैन से भी आप आईटीआई कर सकते हैं, Draughtsman के अंतर्गत आपको किसी भी चीज का नक्शा बनाने का अभ्यास कराया जाता है| अगर आप ड्राफ्टमैन से ITI करते हैं तो यहां पर दो विकल्प मौजूद होता है| १. Draughtsman Civil २. Draughtsman Mechanical. Draughtsman Civil के अंतर्गत आपको पुल, सड़क, भवन आदि का नक्शा बनाने का अभ्यास कराया जाता है| जबकि वहीं पर Draughtsman Mechanical के अंतर्गत मैकेनिक मशीन, मोटर, जनरेटर आदि का नक्शा बनाने का अभ्यास कराया जाता है|

आईटीआई (ITI) पाठ्यक्रम के लिए पात्रता

अगर आप ITI पाठ्यक्रम में एडमिशन लेना चाहते हैं, तो आपके पास नीचे दी गई निम्नलिखित पात्रताएं होनी चाहिए|

  • आईटीआई के अधिकांश पाठ्यक्रमों में एडमिशन लेने के लिए छात्र का 10 वीं पास होना अनिवार्य है|
  • आईटीआई गैर इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में एडमिशन लेने के लिए छात्र का आठवीं पास होना अनिवार्य है|
  • इसके अलावा 12वीं की परीक्षा पास कर चुके छात्र अथवा छात्राएं भी आईटीआई पाठ्यक्रम में एडमिशन ले सकते हैं|
  • आईटीआई पाठ्यक्रम में एडमिशन लेने के लिए छात्र की आयु 14 वर्ष से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए|
  • सरकारी कॉलेज से आईटीआई करने के लिए छात्र को प्रवेश परीक्षा पास करना अनिवार्य होगा|

आईटीआई पाठ्यक्रमों की अवधि कितनी होती है?

आईटीआई पाठ्यक्रमों की अवधि 6 महीने, 9 महीने, 1 वर्ष, 1.5 वर्ष, 2 वर्ष तक होती है| क्योंकि आईटीआई पाठ्यक्रम के आधार पर ही उसकी अवधि निर्धारित की जाती है|

आईटीआई कॉलेज में प्रवेश कैसे लें?

अगर आप तकनीकी प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेना चाहते हैं| तो इसके दो तरीके हैं| १. सीधा प्रवेश ( 10वीं के बाद) २. प्रवेश परीक्षा के माध्यम से प्रवेश अधिकांश निजी कॉलेज कोर्स के आधार पर सीधा प्रवेश देते हैं| दसवीं की परीक्षा में 40% से ऊपर लाने वाला कोई भी विद्यार्थी ITI Private College में सीधा प्रवेश ले सकता है| जबकि आईटीआई सरकारी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए आपको सभी राज्यों के अलग-अलग एजेंसियों द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा पास करनी होती है| इस परीक्षा में आपके लाए गए परिणाम के अनुसार सरकारी कॉलेज में एडमिशन होता है|

आईटीआई पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए राज्य द्वारा होने वाली प्रवेश परीक्षाएं

  • पश्चिम बंगाल आईटीआई प्रवेश (West Bangal ITI Admissions)
  • उत्तराखंड आईटीआई प्रवेश (Uttarakhand ITI Admissions)
  • यूपी आईटीआई प्रवेश (Uttar Pradesh ITI Admissions)
  • राजस्थान आईटीआई प्रवेश (Rajasthan ITI Admissions)
  • पंजाब आईटीआई प्रवेश (Punjab ITI Admissions)
  • उड़ीसा आईटीआई प्रवेश (Odisha ITI Admissions)
  • मणिपुर आईटीआई प्रवेश (Manipur ITI Admissions)
  • महाराष्ट्र आईटीआई प्रवेश (Maharashtra ITI Admissions)
  • एमपी आईटीआई प्रवेश (Madhya ITI Admissions)
  • केरल आईटीआई प्रवेश (Kerala ITI Admissions)
  • कर्नाटक आईटीआई प्रवेश (Karnataka ITI Admissions)
  • झारखंड आईटीआई प्रवेश (Jharkhand ITI Admissions)
  • हिमाचल प्रदेश आईटीआई प्रवेश (Himachal Pradesh ITI Admissions)
  • हरियाणा आईटीआई प्रवेश (Haryana ITI Admissions)
  • गुजरात आईटीआई प्रवेश (Gujrat ITI Admissions)
  • दिल्ली आईटीआई प्रवेश (Delhi ITI Admissions)
  • छत्तीसगढ़ आईटीआई प्रवेश (Chhattisgarh ITI Admissions)
  • बिहार आईटीआई प्रवेश (Bihar ITI Admissions)
  • असम आईटीआई प्रवेश (Assam ITI Admissions)
  • आंध्र प्रदेश आईटीआई प्रवेश (Andhra Pradesh ITI Admissions)

भारत के कुछ टॉप ITI Collage List

  • औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान दिल्ली (Industrial Training Institute Delhi)
  • मालवा औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्र (Malwa Industrial Training Centre)
  • बाबा खड़क सिंह बाबा दर्शन सिंह आई.टी.आई (Baba Kharak Singh Baba Darshan Singh ITI)
  • सरकारी आईटीआई पटियाला (Government ITI Patiyala)
  • संदीपनी प्राइवेट आईटीआई। बिलासपुर (Sandipani Private ITI. Bilaspur)
  • गवर्नमेंट आईटीआई, नरशिपटनम (Government ITI, Narshipatanam)
  • सरकारी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, नागपट्टिनम (Government industrial training Institute, Nagapattinam)
  • बुद्ध आईटीआई, गया (Buddha ITI, Gaya)
  • महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, अहमदनगर (Women’s Industrial Training Institute, Ahmednagar)
  • श्रीमती टेक्नो इंस्टीट्यूट, कोलकाता (Srimati Techno Institute, Kolkata)
  • रघुकुल निजी प्रशिक्षण संस्थान, जयपुर (Raghukul private Training Institute, Jaipur)
  • शिवालिक आईटीसी, यमुना नगर (Shivalik ITC, Yamuna Nagar)
  • औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, भावनगर (Industrial Training Institute, Bhavnagar)
  • शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, जींद (Government Industrial Training Institute, Jind)

आईटीआई पाठ्यक्रमों की फीस कितनी होती है?

Private ITI Collage में आईटीआई पाठ्यक्रमों की फीस प्रतिवर्ष 5000 से शुरू होती है और 50000 प्रति वर्ष तक जाती है| जबकि वहीं पर Government ITI Collage में आईटीआई कोर्स की फीस 2000 प्रति वर्ष से शुरू होती है और 10,000 प्रति वर्ष तक जाती है| अगर आप आईटीआई पाठ्यक्रम में प्रवेश लेना चाहते हैं| तो कोशिश करके सरकारी आईटीआई कॉलेज में एडमिशन ले| क्योंकि सरकारी आईटीआई कॉलेजों में फीस काफी कम होती है, इसके अलावा सरकारी आईटीआई कॉलेज से ज़ारी ITI Certificate को काफी महत्व दिया जाता है|

आईटीआई करने के बाद नौकरी की संभावना

जब आपका आईटीआई पाठ्यक्रम पूरा हो जाता है तो आप आईटीआई पाठ्यक्रम के अनुसार किसी कंपनी में Apprentice कर सकते हैं, जिसके बाद आपको उस कंपनी से Experience Certificate मिल जाता है| जो आपको किसी अन्य कंपनी में Jobs पाने के लिए काफी मददगार होता है| इसके अलावा अगर आप आईटीआई करने के बाद अपरेंटिस नहीं करना चाहते तो सीधी ITI Certificate के माध्यम से किसी प्राइवेट कंपनी में जॉब कर सकते हैं| या फिर अगर आप चाहे तो आईटीआई करने के बाद Politachnic Course कर सकते हैं| जिससे आपके और बेहतर नौकरी पाने की संभावना बढ़ जाती है|

अगर आप चाहे ITI करने के बाद किसी सरकारी नौकरी की तैयारी कर सकते हैं| और अगर आप विदेश में नौकरी करने के इच्छुक हैं तो आप ITI Certificate के माध्यम से विदेशों में जाकर अच्छी कंपनी में नौकरी कर सकते हैं| और अगर आप आईटीआई कंप्लीट करने के बाद कोई नौकरी नहीं करना चाहते, तो आप आईटीआई पाठ्यक्रम के अनुसार अपना स्वरोजगार (Business) शुरू कर सकते हैं|

आईटीआई करने के बाद मिलने वाली सैलरी

जैसा कि आप जानते हैं आईटीआई करने के बाद नौकरी की संभावना क्या क्या हो सकती है इसके विषय में हमने ऊपर बताया हुआ है| लेकिन अगर हम नौकरी के दौरान मिलने वाली Salary की बात करें, तो अगर आप किसी कंपनी में आईटीआई करने के बाद Apprentice करते हैं तो आपको 10 से 15000 प्रति महीने सैलरी दी जाती है| अपरेंटिस का कोर्स 1 साल का होता है, सैलरी के अलावा उस कंपनी के नियमानुसार कंपनी की अन्य सुविधाएं भी आपको अपरेंटिस के दौरान दी जाती है| अपरेंटिस पूरा होने के बाद अगर आपका व्यवहार, कार्य करने की क्षमता, कार्य के प्रति जानकारी, जॉब पर रख लेती है नहीं तो अपरेंटिस पूरा होने के बाद आपको निकाल देती है|

आईटीआई पाठ्यक्रम पूरा होने के बाद अगर आप अपरेंटिस ना करके किसी Private Company में सीधे नौकरी करते हैं| तो भी आप को शुरुआती दौर में 10,000 से लेकर ₹15000 तक की मासिक वेतन दी जाती है| इसके अलावा कंपनी के नियमानुसार अन्य सुविधाएं भी आपको दी जाती है| प्राइवेट कंपनी आप को परमानेंट भी नौकरी पर रख सकती है अथवा 6 महीने का कैजुअल बेस पर रख सकती है, सभी कंपनी के अपने अलग-अलग नियम है|

आईटीआई करना किन छात्रों के लिए सही है?

अगर आप आईटीआई करना चाहते हैं तो सबसे पहले मैं आपको बता देना चाहता हूं, कि ITI करना किन छात्रों के लिए सही है| आईटीआई करना उन्हीं छात्रों के लिए सही है, जो हाई स्कूल, इंटर के बाद आगे की पढ़ाई नहीं करना चाहते हैं| और अपना खुद का कोई रोजगार शुरु करना चाहते हैं| या उनके सामने परिवारिक परेशानी होती है, कि उन्हें हाई स्कूल, इंटर के बाद कमाना पड़ता है| ऐसे छात्र अपनी इच्छा अनुसार किसी भी Tred से आईटीआई करके कौशल सीख सकते हैं| इसके बाद किसी कंपनी में नौकरी कर सकते हैं अथवा अपने कला कौशल के हिसाब से कोई रोजगार शुरु कर सकते हैं|

आईटीआई करने का फायदा

अगर आप ITI करते हैं तो आपको कई प्रकार के फायदे होते हैं जो इस प्रकार है|

  • अगर आप के परिवार की आर्थिक स्थिति सही नहीं है तो आईटीआई करना आपके लिए सही विकल्प है|
  • दसवीं के बाद या फिर 12वीं के बाद आप ITI में एडमिशन ले सकते हैं|
  • आईटीआई करने के बाद आप किसी भी कंपनी में शुरुआती दौर में 10000 से ₹20000 बड़ी आसानी से कमा सकते हैं|
  • अगर आप ITI Government College से करते हैं तो बहुत कम खर्चों में आईटीआई कोर्स कर सकते हैं|
  • वहीं पर अगर आप ITI Private Collage से करते हैं तो आप का काफी ज्यादा पैसा लग जाता है|
  • आईटीआई करने के बाद आप सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं|
  • आईटीआई करने के बाद आप अपने ट्रेड से संबंधित दुकान खोल सकते हैं और आत्मनिर्भर बनकर अच्छा पैसा कमा सकते हैं|

FAQ

ITI Full Form क्या होता है?

ITI Full Form in Hindi : Industrial Training Institute (औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान)

NCVT का Full Form क्या होता हैं?

NCVT Full Form in Hindi : National Council for Vocational Training (नेशनल काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग)

SCVT का Full Form क्या होता हैं?

SCVT Full Form in Hindi : State Council for Vocational Training (स्टेट काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग)

आईटीआई की ऑफिशियल वेबसाइट क्या है?

ITI Official Website : क्लिक करें

आईटीआई की मुख्य ट्रेड कौन कौन सी है?

इलेक्ट्रिशियन, फिटर, वायरमैन, ड्राफ्ट्समैन, कोपा, डीजल मैकेनिक, इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक, स्टेनोग्राफर, मोटर व्हीकल मैकेनिक, वेल्डर आदि मुख्य ट्रेड है| अधिकांश करके विद्यार्थी इन्हीं ट्रेड से आईटीआई करते हैं|

आईटीआई करने में कितना खर्चा आता है?

अगर आप सरकारी कॉलेज से आईटीआई करते हैं तो आप मुक्त में आईटीआई कोर्स कर सकते हैं| और वहीं पर अगर आप प्राइवेट कॉलेज से आईटीआई करते हैं तो आपका लगभग ₹50000 खर्च आएगा|

निष्कर्ष

दोस्तों इस आर्टिकल में हमने ITI Full Form in Hindi तथा आईटीआई से जुड़े संबंधित सभी जानकारी के बारे में पूरे विस्तार से बताया जाए| इस आर्टिकल को पढ़कर आप आईटीआई के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से पा सकते हैं| अगर फिर भी आपका कोई सवाल है तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं|

इसे भी पढ़ें

खरीफ की फसल की पूरी जानकारी

सीसीसी (CCC) कोर्स क्या है

AEPS Full Form in Hindi

Osmose Technology Login इन हिंदी

MMID क्या होता हैं

Jaa Lifestyle Login कैसे करें

2 thoughts on “ITI का Full Form क्या है | आईटीआई से जुड़ी पूरी जानकारी [सवाल और जवाब]”

Leave a Comment