राजस्थान भामाशाह पशु बीमा योजना | Bhamashah Pashu Bima Yojana

आज के इस आर्टिकल में मैं आपको राजस्थान सरकार द्वारा शुरू किया गया Bhamashah Pashu Bima Yojana के बारे में बताने वाला हूं| राजस्थान के पशु पालन व्यवसाय से जुड़े हुए लोग इस योजना का लाभ उठा सकते हैं| आज के वक्त में केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं लाई जा रही हैं| यही वजह है पशु पालन व्यवसाय काफी तेजी से बढ़ रहा है| ग्रामीण क्षेत्रों में अद्व शहरी क्षेत्रों में रहने वाले युवा पशुपालन व्यवसाय में अपनी दिलचस्पी दिखा रहे हैं| जिस प्रकार केंद्र सरकार द्वारा पशुपालन व्यवसाय को प्रोत्साहित करने के लिए राजस्थान पशुधन बीमा योजना चलाई जा रही है| उसी प्रकार राजस्थान सरकार भी अपने राज्य में पशुपालन व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए भामाशाह पशु बीमा स्कीम शुरू की है| अगर आप भी राजस्थान के निवासी हैं तो आप इस आर्टिकल को पढ़कर पशु बीमा योजना Rajasthan के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं| और इस योजना का लाभ उठा सकते हैं|

Contents

राजस्थान पशु बीमा योजना क्या है | Rajasthan Bhamashah Pashu Bima Yojana

राजस्थान सरकार द्वारा अपने राज्य में पशुपालन व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए भामाशाह पशु बीमा योजना शुरू की है| इस योजना के अंतर्गत अब राजस्थान के पशु पालन मालिक अपने पशुओं का बीमा करवा सकते हैं| पशुओं का बीमा करवाने से पशुपालक को यही फायदा होगा कि अगर उनके पशुओं की मृत्यु हो जाती है, तो उन्हें इस योजना के अंतर्गत ₹50000 की धनराशि दी जाएगी| राजस्थान पशु बीमा योजना के अंतर्गत सामान्य वर्ग, पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति यानी सभी वर्ग के पशु मालिक अपने पशुओं का बीमा करवा कर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं|

राजस्थान पशु बीमा योजना के अंतर्गत अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति तथा बीपीएल श्रेणी के पशु मालिकों को प्रीमियम राशि पर 70% की सब्सिडी दी जाती है| जबकि सामान्य श्रेणी के पशुपालकों को 50% की सब्सिडी दिया जाता है| इस योजना के अंतर्गत अपने पशु जैसे : गाय, भैंस, बकरी, सूअर, ऊंट, घोड़ा, गधा सांड आदि का बीमा करवा सकते हैं| ऋ

राजस्थान पशु बीमा योजना का उद्देश्य

राजस्थान के पशुपालन व्यवसाय से जुड़े हुए किसान और नए युवा जो पशुओं की खरीददारी पर काफी ज्यादा पैसा खर्च कर देते हैं| लेकिन जब किसी कारणवश पशु की मृत्यु हो जाती है, तो उनका काफी आर्थिक नुकसान होता है| यही वजह है कि पशुपालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए लोगों को जोखिम लगता है| पशुपालक की यही परेशानी को दूर करने के लिए तथा पशुपालन व्यवसाय को बढ़ावा देने के उद्देश्य से Bhamashah Pashu Bima Yojana शुरू किया गया है| अब राजस्थान के पशु पालन करने वाले लोग बड़ी आसानी से अपने पशुओं का बीमा करवा सकते हैं| और जब किसी कारणवश पशु की मृत्यु हो जाती है तो उन्हें इस योजना के अंतर्गत पशुओं के बीमा के तौर पर ₹50000 की धनराशि दी जाएगी| चलिए इस आर्टिकल में आगे हम जानते हैं, राजस्थान पशु बीमा स्कीम के तहत पशु बीमा प्रीमियम राशि कितनी भरनी होगी|

Bhamashah Pashu Bima Yojana में दिया जाने वाला प्रीमियम राशि

अगर अब राजस्थान पशु बीमा योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो आपको भामाशाह पशु बीमा के अंतर्गत भुगतान प्रीमियम राशि और नियम की पूरी जानकारी होनी चाहिए|

  • इस योजना के अंतर्गत पशुओं के अनुसार (गाय भैंस बकरी भेड़ ऊंट) उनकी अलग-अलग प्रीमियम राशि और बीमा कवर निर्धारित किया गया है|
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के अंतर्गत बीपीएल वर्ग के पशुपालन मालिकों को भैंस का बीमा करवाने के लिए ₹413 का प्रीमियम राशि भुगतान करना होगा| जहां पर उनको ₹50000 का बीमा कवर दिया जाएगा| जबकि गाय का बीमा करवाने के लिए ₹330 की बीमा राशि भुगतान करनी होगी| जहां पर आपको ₹40000 का बीमा कवर दिया जाएगा|
  • Rajasthan Pashu Bima Yojana के अंतर्गत अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों को प्रीमियम की राशि में 70% का छूट दिया जाएगा|
  • सामान्य वर्ग के पशुपालन मालिकों को गाय के बीमा के लिए ₹550 की प्रीमियम राशि देना होगा| जबकि भैंस के बीमा के लिए ₹688 की प्रीमियम राशि देनी होगी|
  • पशु बीमा योजना Rajasthan के अंतर्गत सामान्य वर्ग के पशुपालकों को प्रीमियम राशि में 50% की छूट दी जाएगी|
  • इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत अन्य पशु जैसे : भेड़ बकरी गधा घोड़ा ऊंट सांड आदि पशुओं का भी पशु बीमा करवा सकते हैं|
  • भेड़ का व्यवसाय करने वाली अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा बीपीएल पशुपालकों को भेड़ का बीमा करवाने पर प्रीमियम राशि में 80% का अनुदान दिया जाएगा|
  • भेड़ का व्यवसाय करने वाली सामान्य वर्ग के पशुपालकों को भेड़ का बीमा करवाने पर प्रीमियम राशि में 70% का अनुदान दिया जाएगा|
  • पशुओं का बीमा होने के बाद पहचान हेतु पशुओं पर बीमा टैग लगा दिया जाता है|
  • बीमा करवाने के बाद अगर किसी पशु की मृत्यु हो जाती है तो 100% बीमा राशि पशु मालिकों को दिया जाता है|

अलग-अलग पशुओं की अलग-अलग बीमा

राजस्थान पशु बीमा योजना के अंतर्गत पशुओं को कई श्रेणी में बांटा गया है, और उसी हिसाब से अलग-अलग पशुओं की अलग-अलग बीमा राशि निर्धारित किया गया है|

  • दूध देने वाली गाय का ₹40000 तक बीमा किया जाएगा|
  • दूध देने वाली भैंस का ₹50000 तक बीमा किया जाएगा|
  • 10 सूअर, 10 बकरी, 10 भीड़ का ₹50000 तक बीमा किया जाएगा|
  • सांड, गधा, घोड़ा, ऊंट का ₹50000 तक बीमा किया जाएगा|
  • Bhamashah Pashu Bima Scheme के अंतर्गत एक पशुपालक अधिकतम पांच पशुओं की बीमा करवा सकता है|
  • भेड़, बकरी, सूअर में एक यूनिट में 10 की संख्या होगी, यानि पशु पालक 10 भीड़ को एक यूनिट में बीमा करा सकता है, इसके अलावा चार अन्य पशुओं का बीमा करा सकता है|

भामाशाह पशु बीमा योजना आवेदन कैसे करें?

अगर आप भी राजस्थान सरकार द्वारा शुरू किया गया राजस्थान पशु बीमा योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं| तो यहां पर मैं आपको बता देना चाहता हूं Bhamashah Pashu Bima Yojana Online Apply करने की अभी कोई प्रक्रिया शुरू नहीं है| इसलिए आपको ऑफलाइन माध्यम से इस योजना में आवेदन करना होगा|

  • सबसे पहले आपको अपने ब्लॉक पर पशु चिकित्सालय कार्यालय में जाना है, वहां से Rajasthan पशु बीमा योजना आवेदन फार्म लेना है|
  • इस आवेदन में पूछी गई सभी जानकारी को भर देना है और उसके साथ जरूरी दस्तावेजों की फोटोकॉपी लगा देनी है|
  • इसके अलावा Bhamashah Pashu Bima Yojana Application Form में जिस पशु का बीमा कराना चाहते हैं, उस पशु की पूरी जानकारी भी भर देनी है|
  • यहां पर आपको ध्यान देना है आप जिस पशु का बीमा करवा रहे हैं, उस पशु को पशु चिकित्सालय द्वारा स्वस्थ घोषित किया गया हो|
  • अगर आप चाहें तो भामाशाह पशु बीमा योजना के अंतर्गत पशु बीमा कराने से पहले अपने पशु का पशु चिकित्सालय से स्वास्थ्य चेकअप करवा ले, इसके बाद ही आवेदन करें|
  • बीमा की प्रक्रिया पूरा होने के बाद आपको प्रीमियम राशि सर्विस टैक्स के साथ बीमा कंपनी के प्रतिनिधि के पास जमा कर देनी है|
  • इसके बाद बीमा कंपनी के प्रतिनिधि द्वारा बीमित पशु की पहचान के लिए बीमा टैग लगाना अनिवार्य है, टैग लगने के बाद पशु की एक फोटो अपने पास जरूर रख लें | तथा एक फोटो बीमा कंपनी प्रतिनिधि के पास जमा कर दें|

Bhamashah Pashu Bima Yojana योजना पात्रता

अगर आप भी राजस्थान पशु बीमा योजना आवेदन करने के उत्सुक हैं, तो आपके पास नीचे दी गई निम्नलिखित पात्रताएं होनी चाहिए|

  • राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्र और शहरी क्षेत्र दोनों जगह के पशु पालक इस योजना के अंतर्गत अपने पशुओं का बीमा करवा सकते हैं|
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा सामान्य वर्ग के बीपीएल कार्ड धारक पशु मालिक भी Rajathan Pashu Bima Yojana के अंतर्गत अपने पशुओं का बीमा करवा सकते हैं|
  • बीमा करवाने के लिए व्यक्ति के पास अपना खुद का पशु होना चाहिए|
  • बीमाकृत पशुओं का दोबारा बीमा नहीं किया जाएगा| यानी पशु मालिक अपने उसी पशुओं का बीमा करवा सकते हैं, जिन पशुओं का कभी भी कोई भी बीमा न किया गया हो|
  • पशुपालक स्थाई रूप से राजस्थान का निवासी होना चाहिए|

राजस्थान पशु बीमा योजना के लिए दस्तावेज

अगर आप भामाशाह पशु बीमा स्कीम के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तो आपके पास नीचे दी गई निम्नलिखित दस्तावेज होने चाहिए| तभी आप इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं, और अपने पशुओं का बीमा करवा सकते हैं|

  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति वर्ग के पशु पालक का जाति प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक
  • आधार कार्ड
  • बीपीएल कार्ड
  • भामाशाह कार्ड
  • पशु बीमा का आवेदन फार्म
  • पशु का स्वास्थ्य प्रमाण पत्र
  • पशु के कान में टैग सहित पशुपालक का फोटो

पशु की मृत्यु के बाद बीमा राशि कैसे प्राप्त करें?

अगर आप Bhamashah Pashu Bima Yojana के अंतर्गत अपने पशुओं का बीमा करवा चुके हैं| तो पशु की मृत्यु के उपरांत नीचे दिए गए सभी बातों को फॉलो करके पशु बीमा राशि पा सकते हैं|

  • बीमित पशु की मृत्यु रोग अथवा दुर्घटना के कारण होने पर ही आप बीमा राशि के लिए क्लेम कर सकते हैं|
  • बीमाकृत पशु की मृत्यु होने के बाद 6 घंटे के अंदर आपको यह जानकारी संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग या बीमा कंपनी प्रतिनिधि को देनी होगी|
  • अगर बीमित पशु की मृत्यु रात में हो जाती है, तो सुबह आपको बीमा कंपनी प्रतिनिधि या संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग में सूचित कर देना है|
  • बीमाकृत कंपनी का प्रतिनिधि 6 घंटे के अंदर आपके घर आकर पशु की मृत्यु की जांच करता है, तथा पशु बीमा कागजात को चेक करता है|
  • पशु की मृत्यु होने के बाद पशु चिकित्सक के द्वारा पशु का पोस्टमार्टम करवाना चाहिए| इसके अलावा पशु चिकित्सक द्वारा पशु का मृत्यु प्रमाण पत्र ले लेना चाहिए|
  • पशु का पोस्टमार्टम करवाते समय पशु की एक फोटो अवश्य ले लेनी चाहिए|
  • जब आप पशु बीमा राशि के लिए क्लेम करेंगे, तब वहां पर आपको पशु का मृत्यु प्रमाण पत्र, बीमा टैग लगा पशु की एक फोटो, इसके अलावा पशु बीमा से संबंधित सभी दस्तावेज की जरूरत पड़ेगी|
  • क्लेम करने के बाद बीमा कंपनी द्वारा आपके क्लेम की जांच की जाएगी, और जांच सही पाया जाने पर बीमा कंपनी द्वारा आपके बैक अकाउंट में पशु बीमा राशि ट्रांसफर कर दिया जाएगा|

भामाशाह पशु बीमा योजना की महत्वपूर्ण बातें

  • राजस्थान के रहने वाले जिन पशु मालिकों का भामाशाह कार्ड बना है, वही इस योजना के अंतर्गत अपने 5 पशुओं का बीमा करवा सकते हैं|
  • दूध देने वाली गाय के लिए बीमा राशि ₹40000 रखा गया है जबकि दूध देने वाली भैंस की बीमा राशि ₹50000 रखा गया है|
  • भार ढोने वाले पशु जैसे : पड़ा, सांड, ऊंट, घोड़ा, गधा जैसे पशुओं की बीमा राशि ₹50000 रखा गया है|
  • पशुओं का बीमा होने के बाद पहचान के लिए पशुओं के शरीर पर टैग लगाना अनिवार्य होगा|
  • पशुपालकों को पशुओं की बीमा कराने के बाद प्रीमियम राशि + जीएसटी के साथ जमा करना होगा|
  • अगर किसी कारण बस पशु पर लगा टैग खो जाता है, तो पशु मालिक को तुरंत पशु चिकित्सक अधिकारी से संपर्क करके बीमाकृत पशु पर नया टैग लगवा लेना चाहिए|
  • अगर बीमा अवधि के दौरान बीमाकृत पशु की मृत्यु रोग, बीमारी, भूकंप, बिजली, बाढ़, आधी, तूफान, दुर्घटना आदि से होती है, तो उसे बीमा राशि का लाभ दिया जाएगा|

ऐसी स्थिति में पशुपालक बीमा क्लेम नहीं कर सकते हैं?

  • अगर पशु मालिक जानबूझकर बीमाकृत पशुओं को हानि पहुंचाते हैं, तो ऐसे में उन्हें बीमा राशि नहीं दिया जाएगा|
  • इसके अलावा अगर पशु मालिक जानबूझकर पशु को मार डालते हैं, तो ऐसे में पशुपालक बीमा क्लेम नहीं कर सकते हैं|
  • इसके अलावा पशु की चोरी हो जाने पर अथवा गुप्त रूप से बेच देने पर भी पशुपालक बीमा क्लेम के हकदार नहीं होंगे|

पशुधन बीमा योजना हेल्पलाइन नंबर

अगर आपको पशु बीमा योजना संबंधित और जानकारी पाना है, तो आप दिए गए टेलीफोन नंबर : 0141-2731710 / फैक्स नंबर : 0141-2732566 / मोबाइल नंबर : 9001531892 पर संपर्क कर सकते हैं|

FAQ

Bhamashah Pashu Bima Yojana क्या है?

भामाशाह पशु बीमा योजना राजस्थान सरकार द्वारा शुरू किया गया है, इस योजना के अंतर्गत राजस्थान के पशुपालक अपने पशुओं का बीमा करवा सकते हैं| और जब किसी कारणवश उनके पशु की मृत्यु हो जाती है तो बीमा कंपनी द्वारा उन्हें बीमा राशि प्रदान किया जाएगा|

भैंस का बीमा कितने रुपए में होता है?

इस योजना के अंतर्गत भैंस का बीमा ₹413 प्रीमियम राशि पर किया जाता है| भैंस की मृत्यु के उपरांत मिलने वाला बीमा राशि ₹50000 होता है|

भेड़ बकरी का बीमा कैसे कर सकते हैं?

राजस्थान पशु बीमा योजना के अंतर्गत आप एक इकाई में 10 बकरी / 10 भेड़ का बीमा करवा सकते हैं|

भामाशाह पशु बीमा योजना किसके द्वारा शुरू किया गया है?

राजस्थान सरकार द्वारा अपने राज्य में पशुपालन व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए तथा पशु पालकों के लाभ के लिए Rajasthan पशु बीमा योजना शुरू किया गया है|

निष्कर्ष

दोस्तों इस आर्टिकल में हमने राजस्थान सरकार द्वारा शुरू किया गया Bhamashah Pashu Bima Yojana के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से बताई हैं| अगर आप राजस्थान के निवासी हैं और आप पशुपालन व्यवसाय से जुड़े हुए हैं, तो इस योजना के अंतर्गत अपने पशुओं का बीमा करवा सकते हैं|

इसे भी पढ़ें

मनरेगा पशु शेड योजना

नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट राजस्थान

राजस्थान रोडवेज बस इंक्वायरी नंबर

राजस्थान ट्रैफिक पुलिस चालान लिस्ट कैसे देखें

राजस्थान शौचालय लिस्ट ऑनलाइन कैसे देखें

राजस्थान पालनहार योजना

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना

राजस्थान शौचालय ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें

5 thoughts on “राजस्थान भामाशाह पशु बीमा योजना | Bhamashah Pashu Bima Yojana”

Leave a Reply