आंगनवाड़ी कार्यकर्ता कैसे बनें? शैक्षिक योग्यता, भर्ती नियम, सैलरी | Anganwadi Karyakarta Kaise Bane

भारत सरकार की महिला एवं बाल विकास विभाग के अंतर्गत प्रत्येक राज्यों में रहने वाली गर्भवती महिलाओं और कुपोषित बच्चों के विकास के लिए ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में आंगनवाड़ी Kendra की स्थापना की गई है| आंगनवाड़ी केंद्र की संचालन के लिए Anganwadi Seveka और एक सहायिका की नियुक्ति की जाती है| आंगनवाड़ी में बच्चों को शिक्षा देने वाली शिक्षिका को सेविका कहा जाता है| जबकि रसोइयों को संभालने वाली सहायिका होती है| अगर आप भी सोच रहे हैं, कि अपने गांव के आंगनवाड़ी केंद्र में Anganwadi Karyakarta Kaise Bane. तो इस आर्टिकल को आप को ध्यान पूर्वक पढ़ना चाहिए| क्योंकि इस आर्टिकल के माध्यम से मैं आपको आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए Qualifications, भर्ती नियम, Salary आदि के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से बताने वाला हूं|

इसे भी पढ़ें 👇

आई.टी.आई. (ITI) कोर्स क्या होता हैंकोर्ट मैरिज कैसे करें
ट्रिपल सी (CCC) कोर्स क्या होता हैं MMID क्या होता हैं

Contents

आंगनवाड़ी केंद्र में क्या होता है?

Anganwadi Kendra में 3 से 6 साल तक के बच्चों के पोषण का, उनकी प्रारंभिक शिक्षा का और स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखा जाता है| इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को कुपोषण से बचाने की जिम्मेदारी भी आंगनवाड़ी केंद्र का होता है| अगर इसे आसान शब्दों में कहें तो सरकार द्वारा 3 साल से लेकर 6 साल तक के बच्चों को पोषण, स्कूल की प्रारंभिक शिक्षा और स्वास्थ्य प्रदान करने के लिए इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को कुपोषण से बचाने के लिए आंगनवाड़ी केंद्र का निर्माण की है| और इन आंगनवाड़ी केंद्र की संचालिका को ही Anganwadi Karyakarta कहते हैं|

आंगनवाड़ी सेविका किसे कहते हैं?| Anganwadi Seveka Kise Kahte Hai.

जैसा कि आप जानते हैं भारत सरकार की महिला एवं बाल विकास विभाग के अंतर्गत Anganwadi Yojana संचालित की जाती है| आंगनवाड़ी में बच्चों को पढ़ाने वाली शिक्षिका या मैडम को ही आंगनवाड़ी सेविका कहा जाता है| आंगनवाड़ी सेविका बच्चों के पढ़ाने के साथ-साथ आंगनवाड़ी केंद्र के संपूर्ण कार्यभार को देखती है| इसके अलावा गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण, बच्चों का टीकाकरण, खाद्य सामग्री का वितरण, पोलियो अभिमान में बच्चों को दवा पिलाना, इसके अलावा अन्य सरकारी योजनाओं से संबंधित कार्य भी आंगनवाड़ी सेविका के अंतर्गत आता है|

आंगनवाड़ी सेविका (शिक्षिका/मैडम) कैसे बनें? | Anganwadi Teacher Kaise Bane.

  • अगर कोई भी महिला Anganwadi Teacher बनने की सोच रही है, तो उसे सबसे पहले किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से 12वीं की परीक्षा पास करनी होती है|
  • 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करनी होती है|
  • ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करने के बाद कोई भी या महिला आंगनवाड़ी कार्यकर्ता आवेदन पत्र के माध्यम से आवेदन कर सकती है|
  • महिला एवं बाल विकास विभाग राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर आंगनवाड़ी की रिक्त पदों पर भर्ती के लिए सूचना जारी की जाती है| इसलिए जब Anganwadi Karyakarta Ki Bharti निकलती है, तो आपको आवेदन कर देना चाहिए|
  • आवेदन करने के बाद सभी उम्मीदवारों की 10वीं, 12वीं, ग्रेजुएशन के अंकों के आधार पर मेरिट तैयार किया जाता है| इसके बाद मेरिट के आधार पर ही आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की नियुक्ति की जाती है|
  • Anganwadi शिक्षिका बनने के लिए किसी प्रकार की परीक्षा और इंटरव्यू नहीं देना पड़ता है| मेरिट के आधार पर ही आंगनवाड़ी शिक्षिका/सेविका की भर्ती की जाती है|

आंगनवाड़ी सेविका बनने के लिए शैक्षिक योग्यता | Anganwadi Karyakarta Kaise Bane.

  • आंगनबाड़ी शिक्षिका बनने के लिए उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से अच्छे अंको से दसवीं की परीक्षा पास होनी चाहिए|
  • आंगनवाड़ी सेविका/शिक्षिका/मैडम बनने के लिए उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से अच्छे अंको से 12वीं की परीक्षा पास होनी चाहिए|
  • आंगनवाड़ी शिक्षिका बनने के लिए उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से अच्छे अंको से ग्रेजुएट की परीक्षा पास होनी चाहिए|

आंगनवाड़ी शिक्षिका/सेविका/मैडम बनने के लिए पात्रता

  • Anganwadi Teacher बनने के लिए उम्मीदवार एक महिला होनी चाहिए|
  • उम्मीदवार की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष और अधिकतम उम्र 35 वर्ष होना चाहिए|
  • आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए उम्मीदवार एक शादीशुदा महिला होनी चाहिए|

मेरिट के आधार पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का चयन प्रक्रिया

जैसा कि आप जानते हैं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का चयन हमेशा मेरिट के आधार पर किया जाता है| मेरिट के आधार पर लिस्ट तैयार करते समय साक्षात्कार के लिए 25 अंक निर्धारित किए जाते हैं| जो इस प्रकार हैं 👇

  • शैक्षणिक योग्यता के लिए 10 अंक : राज्य सरकार की ओर से निर्धारित की गई योग्यता के लिए कुल 7 अंक, ग्रेजुएशन की डिग्री के लिए 2 अंक, पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए 1 अंक शामिल होता है|
  • अभ्यार्थी महिला के परिवार में दो बेटियां होने पर – 2 अंक
  • पर्सनल इंटरव्यू देने के बाद – 3 अंक
  • ओबीसी/एसटी/एससी जाति से संबंधित अभ्यार्थियों के लिए – 2 अंक
  • 40% या ज्यादा विकलांगता वाली महिला अभ्यर्थी को – 2 अंक
  • अनाथ आश्रम में रह रही तलाकशुदा महिला के लिए या पति से 7 साल अलग रह रही एकल महिला अभ्यार्थी के लिए – 3 अंक
  • बाल सेविका या नर्सरी टीचर के रूप में 10 महीना या इससे ज्यादा अनुभव होने पर – 3 अंक

मेरिट आधार पर 2 उम्मीदवारों को एक समान अंक मिलते पर क्या होगा?

जैसा कि आप जानते हैं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की नियुक्ति हमेशा मेरिट आधार पर की जाती है| लेकिन जब कभी भी दो उम्मीदवारों को एक समान नंबर मिलता है, तो ऐसी स्थिति में दोनों उम्मीदवारों में जिस उम्मीदवार की आयु ज्यादा होगी| उसे ही सबसे पहले आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की भर्ती में प्राथमिकता दिया जाएगा|

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की सैलरी | Anganwadi Karyakarta Ki Salary

आंगनवाड़ी केंद्रों का संचालन करने के लिए मुख्य रूप से 3 पदों की जरूरत होती है, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, मिनी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी सहायिका| भारत सरकार द्वारा आंगनवाड़ी केंद्रों पर 3 पदों का अलग-अलग वेतन निर्धारित किया गया है|

  • आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की सैलरी : आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की सैलरी 5500 रुपए से लेकर ₹7000 प्रति माह तक होती है|
  • मिनी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का वेतन : मिनी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की सैलरी 4250 रुपए से लेकर 5500 रुपए तक होती है|
  • आंगनवाड़ी सहायिका का वेतन : आंगनवाड़ी सहायिका की सैलरी 3250 रुपए से लेकर ₹4000 प्रति माह तक होती है|

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भर्ती नियम 2022 | Anganwadi Karyakarta Kaise Bane.

जैसा कि हमने ऊपर आर्टिकल में बताया है, सभी राज्यों के लिए आंगनवाड़ी भर्ती नियम अलग-अलग होते हैं| नीचे कुछ राज्यों के Anganwadi Karyakarta Bharti नियम 2022 दिए गए हैं|

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भर्ती नियम CG

जो भी उम्मीदवार Chhattisgarh Anganwadi Karyakarta के लिए आवेदन करना चाहते हैं| उनके लिए सीजी सरकार द्वारा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भर्ती नियम और पात्रताएं इस प्रकार निर्धारित किए गए हैं|

  • आंगनवाड़ी सहायिका के लिए उम्मीदवार का आठवीं/दसवीं पास होना अनिवार्य होगा|
  • आंगनवाड़ी सहायिका की आयु सीमा 18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच में होनी चाहिए|
  • छत्तीसगढ़ आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की भर्ती मानद सेवा, समीक्षा, शिक्षा के आधार पर किया जाएगा|

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भर्ती नियम MP

जो भी उम्मीदवार Madhya Pradesh Anganwadi Karyakarta के लिए आवेदन करना चाहते हैं| उनके लिए एमपी सरकार द्वारा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भर्ती नियम और पात्रताएं इस प्रकार निर्धारित किए गए हैं|

  • शैक्षणिक योग्यता : मध्य प्रदेश आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के लिए उम्मीदवार को 8वीं, 10वीं, 12वीं पास होना अनिवार्य है|
  • आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के लिए महिला उम्मीदवार की उम्र 18 से 35 वर्ष के बीच में होनी चाहिए|
  • MP Anganwadi Karyakarta Bharti नियम के अंतर्गत बाल विकास विभाग होशंगाबाद संभाग द्वारा उम्मीदवारों का चयन इंटरव्यू, मेडिकल टेस्ट, दस्तावेज सत्यापन के बाद ही किया जाता है|

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भर्ती नियम UP

जो भी उम्मीदवार उत्तर प्रदेश आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के लिए आवेदन करना चाहते हैं| उनके लिए यूपी सरकार द्वारा Anganwadi Karyakarta भर्ती नियम और पात्रताएं इस प्रकार निर्धारित किए गए हैं|

  • आंगनवाड़ी कार्यकर्ता/आंगनवाड़ी मिनी कार्यकर्ता के लिए उम्मीदवार का किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से 10वीं/12वीं और स्नातक पास होना अनिवार्य है|
  • आंगनवाड़ी कार्यकर्ता/आंगनवाड़ी मिनी कार्यकर्ता के लिए उम्मीदवार की उम्र 21 वर्ष से 45 वर्ष के बीच होनी चाहिए, जबकि आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को उम्र में छूट दी जाती है|
  • आंगनवाड़ी सहायिका के लिए कम से कम कक्षा पांचवी पास होना अनिवार्य होता है|
  • आंगनवाड़ी सहायिका की उम्र 21 से 50 वर्ष के बीच में होनी चाहिए|
  • UP Anganwadi Karyakarta Bharti की प्रक्रिया मेरिट के आधार पर होती है| मेरिट बनते समय उम्मीदवार का 10वीं, 12वीं और स्नातक के सभी अंकों को जोड़ा जाता है| लेकिन अगर उम्मीदवार स्नातक के बाद कोई अन्य डिग्री जैसे : परास्नातक एमबीए आदि किया है, तो उसका नंबर मेरिट लिस्ट में नहीं जोड़ा जाता है|

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भर्ती नियम Rajasthan

जो भी उम्मीदवार राजस्थान आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के लिए आवेदन करना चाहते हैं| उनके लिए राजस्थान सरकार द्वारा Anganwadi Karyakarta Bharti Niyam और पात्रताएं इस प्रकार निर्धारित किए गए हैं|

  • शैक्षणिक योग्यता : उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 8वीं/10वीं/12वीं या उसके समकक्ष परीक्षा पास होना अनिवार्य है|
  • आयु सीमा मापदंड : Rajasthan Anganwadi Karyakarta Bharti के लिए उम्मीदवार की उम्र 21 साल से ऊपर और 35 साल से कम होनी चाहिए| जबकि एससी/एसटी वर्ग के उम्मीदवारों की आयु 21 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए| वहीं पर विधवा/तलाकशुदा/परित्यात्का उम्मीदवार की आयु 21 से 45 वर्ष होनी चाहिए|
  • इसके अलावा उम्मीदवार महिला शादीशुदा होनी चाहिए|
  • उम्मीदवार जिस ग्राम पंचायत से Anganwadi Karyakarta के लिए आवेदन कर रही है, उम्मीदवार उसी ग्राम पंचायत का निवासी होना चाहिए|

आंगनवाड़ी केंद्र पर दी जाने वाली सुविधाएं

जैसा कि आप जानते हैं प्रत्येक गांव में Anganwadi Kendra होता है, और इस आंगनवाड़ी केंद्र पर उस गांव से संबंधित कई महत्वपूर्ण कार्यों की सुविधाएं दी जाती है| जो इस प्रकार है 👇

  • 6 वर्ष से कम आयु के बच्चों का टीकाकरण आंगनवाड़ी केंद्रों पर किया जाता है|
  • 6 वर्ष से कम आयु के बच्चों को कुपोषण जैसी खतरनाक बीमारी से बचाने के लिए आंगनवाड़ी केंद्रों का पोषक आहार दिया जाता है|
  • गर्भवती महिलाओं की देखभाल और स्वास्थ्य को देखते हुए Anganwadi Center पर टीकाकरण और पोषक आहार दिया जाता है|
  • 3 से 6 साल के बच्चों को फ्री में प्रारंभिक शिक्षा प्रदान करना|
  • कुपोषण जैसी गंभीर बीमारी के केस को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अथवा जिला अस्पताल में भेजना|

Anganwadi Karyakarta Kaise Bane (FAQ)

1.आंगनवाड़ी टीचर बनने के लिए क्या करना चाहिए?

अगर आप आंगनवाड़ी टीचर बनने की सोच रही हैं, तो आपको सबसे पहले किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से हाई स्कूल पास करना होगा| इसके बाद मान्यता प्राप्त स्कूल से इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करनी होगी| इसके बाद मान्यता प्राप्त स्कूल से ग्रेजुएशन पूरा करना होगा| जिसके बाद ही आप आंगनवाड़ी टीचर के लिए आवेदन कर सकती हैं|

2.आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का चयन कौन करता है?

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता चयन प्रक्रिया में मुख्य भूमिका महिला एवं बाल विकास विभाग की होती है| लेकिन आंगनवाड़ी कार्यकर्ता चयन प्रक्रिया में ग्राम सभा का भी काफी योगदान होता है|

3.आंगनवाड़ी टीचर का वेतन कितना है?

Anganwadi Teacher/मैडम का वेतन 5500 रुपए से लेकर ₹7000 प्रति माह होती है, लेकिन प्रत्येक राज्यों में आंगनवाड़ी सेविका का वेतन अलग-अलग निर्धारित किया गया है|

4.आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की ट्रेनिंग कितने दिन की होती है?

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को बच्चों को पढ़ाने के लिए कम से कम 6 महीने से 1 साल की ट्रेनिंग दी जाती है|

5.आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का काम क्या होता है?

3 से 6 साल के बच्चों को प्रारंभिक शिक्षा, पोषण, स्वास्थ्य प्रदान करना, इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को कुपोषण से बचाने के लिए अच्छे पोषण खाद्य पदार्थ प्रदान करना Anganwadi Karyakarta Ka Kam होता है|

निष्कर्ष

दोस्तों इस आर्टिकल में हमने Anganwadi Karyakarta Kaise Bane. इसके विषय में पूरी जानकारी विस्तार से बताई है| इस आर्टिकल को पढ़कर आप आंगनवाड़ी से जुड़ी सभी जानकारी जैसे : Anganwadi Karyakarta का चयन कैसे होता है, आंगनवाड़ी टीचर का क्या काम होता है, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की ट्रेनिंग कितने दिन की होती है, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भर्ती नियम UP, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भर्ती नियम CG, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भर्ती नियम MP, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भर्ती नियम Rajasthan, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की सैलरी आदि के बारे में पूरा विस्तार से बताया है| लेकिन फिर भी अगर आपको आंगनवाड़ी कार्यकर्ता कैसे बने? से संबंधित कोई सवाल है, तो कमेंट करके पूछ सकते हैं|

इसे भी पढ़ें 👇

AEPS क्या होता हैं

डोमिसाइल सर्टिफिकेट क्या होता है?

केबीसी में रजिस्ट्रेशन कैसे होता है

स्वयं सहायता समूह क्या है?

रिलायंस पेट्रोल पंप कैसे खोले?

लेबर कोर्ट में शिकायत कैसे करें?

3 thoughts on “आंगनवाड़ी कार्यकर्ता कैसे बनें? शैक्षिक योग्यता, भर्ती नियम, सैलरी | Anganwadi Karyakarta Kaise Bane”

Leave a Reply