संत रविदास शिक्षा सहायता योजना । पात्रता, दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana की शुरुआत की गई है। इस योजना के अंतर्गत राज्य में रहने वाले गरीब श्रमिक वर्ग के बच्चों को पढ़ाई के लिए छात्रवृत्ति शिक्षा सहायता धनराशि प्रदान की जाएगी। क्योंकि उत्तर प्रदेश राज्य में ऐसे बहुत से गरीब श्रमिक परिवार है, जो आर्थिक तंगी के कारण अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा नहीं दे पाते हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

ऐसे परिवार के बच्चों को शिक्षा देने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश सरकार ने संत रविदास शिक्षा सहायता योजना की शुरुआत की है। अगर आप भी संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, इस योजना के विषय में पूरी जानकारी पाना चाहते हैं, तो इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पूरा पढ़ियेगा।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना क्या है?

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा गरीब, श्रमिकों के बच्चों के लिए संत रविदास शिक्षा सहायता योजना की शुरुआत किया गया है। इस योजना के अंतर्गत कक्षा 1 से लेकर 12वीं की पढ़ाई कर रहे छात्रों को और पॉलिटेक्निक, आईटीआई जैसे कोर्स को कर रहे छात्रों को आगे की पढ़ाई करने के लिए छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। उत्तर प्रदेश में शिक्षा स्तर को बढ़ावा देने तथा गरीब और श्रमिक बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने इस योजना की शुरुआत की है।

Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana का लाभ उठाने के लिए छात्रों के माता पिता को भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड उत्तर प्रदेश में पंजीकरण कराना होगा। पंजीकरण कराने के फलस्वरुप पंजीकृत गरीब श्रमिक परिवार के बच्चे इस योजना का लाभ उठा पाएंगे।

Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana (Highlight)

योजना संत रविदास शिक्षा सहायता योजना
राज्यउत्तर प्रदेश
संबंधित विभागश्रम विभाग उत्तर प्रदेश
योजना के लाभार्थी गरीब श्रमिक परिवार के बच्चे
योजना का उद्देश्य गरीब परिवार के विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति प्रदान करना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
ऑफिशियल वेबसाइटhttps://upbocw.in/
हेल्पलाइन नंबर1800-180-5412

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का उद्देश्य

उत्तर प्रदेश के रहने वाले गरीब श्रमिक मजदूर के बच्चों को पढ़ाई करने के लिए छात्रवृत्ति प्रदान करना Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana का उद्देश्य हैं। क्योंकि महंगाई के इस दौर में गरीब श्रमिक मजदूर के बच्चे अच्छी शिक्षा नहीं प्राप्त कर पाते हैं। और पढ़ाई करने की उम्र में वे कमाने निकल जाते हैं, इसीलिए उत्तर प्रदेश सरकार ने श्रमिकों के अधिकतर दो बच्चों को इस योजना के तहत पढ़ाई करने के लिए छात्रवृत्ति देने का फैसला किया है।

इस योजना का शुरू करने का उद्देश्य उत्तर प्रदेश में शिक्षा के स्तर को बढ़ावा देना है। जिससे गरीब मजदूर के बच्चे भी बिना किसी परेशानी के अच्छी शिक्षा ग्रहण कर सकें, और अपने जीवन को आत्मनिर्भर बना सकें।

Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana का लाभ

  • उत्तर प्रदेश सरकार श्रमिकों के बच्चों को पढ़ाई करने के लिए संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के अंतर्गत छात्रवृत्ति प्रदान करेगी।
  • 10वीं तथा 12वीं उत्तीर्ण करने वाली छात्राओं को इस योजना के अंतर्गत साइकिल दी जाएगी।
  • Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana का लाभ 35 वर्ष से कम आयु वाले विद्यार्थी ही उठा सकते हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत छात्रों को तिमाही आधार पर छात्रवृत्ति की धनराशि प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत छात्रवृत्ति की पहली किस्त का भुगतान छात्रों को कक्षा में प्रवेश लेते समय ही दिया जाएगा।
  • सरकारी चिकित्सा कॉलेजों में मेडिकल के कोर्स कर रहे छात्रों को Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana Labh दिया जाएगा।
  • इंजीनियरिंग, डॉक्टरी और इसके समकक्ष कोर्स कर रहे छात्रों को हर महीने ₹8000 से लेकर ₹12000 की छात्रवृत्ति सहायता प्रदान की जाएगी।
  • संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के अंतर्गत यदि छात्र वार्षिक परीक्षा में फेल हो जाता है और दोबारा उसी कक्षा में प्रवेश लेता है तो उसे छात्रवृत्ति का लाभ नहीं दिया जाएगा।
  • सरकारी कॉलेजों से पॉलिटेक्निक, आईटीआई, इंजीनियरिंग करने वाले छात्रों को ही इस योजना के अंतर्गत छात्रवृत्ति का लाभ दिया जाएगा।
  • किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से राज्य स्तर की प्रवेश परीक्षा पास होने पर ही छात्रों का व्यवसायिक कोर्स में पात्रता मान होगी।
  • इस योजना के शुरू होने से अब गरीब और श्रमिक परिवार के बच्चे बड़ी आसानी से अपनी पढ़ाई कर सकते हैं।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के अंतर्गत मिलने वाली छात्रवृत्ति

कक्षा 1 से लेकर 12 तक के गरीब श्रमिक परिवार के बच्चे तथा आईटीआई और पॉलिटेक्निक जैसे कोर्स करने के लिए Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana के अंतर्गत दिया जाने वाला छात्रवृत्ति इस प्रकार है-

कक्षा 1 से लेकर कक्षा 5 तक के छात्रों के लिए100 रूपया हर महीने दिया जाएगा
कक्षा 6 से लेकर कक्षा 8 तक के छात्रों के लिए150 रुपया हर महीने दिया जाएगा
कक्षा 9 से लेकर कक्षा 10 तक के छात्रों के लिए200 रूपया हर महीने दिया जाएगा
कक्षा 11 से लेकर कक्षा 12 तक के छात्रों के लिए250 रूपया हर महीने दिया जाएगा
शासकीय संस्थानों से आईटीआई अथवा समकक्ष प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों के लिए 500 रूपया हर महीने दिया जाएगा
शासकीय संस्थानों से पालीटेक्निक अथवा समकक्ष प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों के लिए 800 रूपया हर महीने दिया जाएगा
शासकीय संस्थानों से इंजीनियरिंग अथवा समकक्ष प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों के लिए 3000 रुपया हर महीने दिया जाएगा
शासकीय संस्थानों से मेडिकल कोर्स के पाठ्यक्रमों के लिए 5000 रुपया हर महीने दिया जाएगा
इंजीनियरिंग व मेडिकल के स्नातकोत्तर डिग्री जैसे पाठ्यक्रमों के लिए 8000 रुपया हर महीने दिया जाएगा
किसी भी विषय में अनुसंधान करने हेतु12000 रुपया हर महीने दिया जाएगा

छात्रवृत्ति प्राप्त करने संबंधित आवश्यक दिशा-निर्देश

  • इस योजना के अंतर्गत राज्य के बालक/बालिकाओं को भुगतान की पहली किस्त कक्षा में प्रवेश लेने के बाद दिया जाएगा।
  • राज्य के सरकारी कॉलेजों में शिक्षा प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को ही संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • शासकीय संस्थाओं से आईआईटी, मेडिकल, पॉलिटेक्निक, इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में प्रवेश करने वाले छात्र/छात्राओं को योजना का लाभ लेने के लिए प्रवेश कार्ड या रसीद को प्रमाण के तौर पर दिखाना होगा।
  • छात्र/छात्राएं यदि किसी कक्षा में उत्तीर्ण नहीं हो पाते और दोबारा उसी कक्षा में प्रवेश लेते हैं, तो ऐसे छात्रों को इस योजना का लाभ दोबारा नहीं दिया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए मान्यता प्राप्त संस्थान से राज्य स्तर की प्रवेश परीक्षा पास करने वाले छात्र के व्यवसायिक कोर्स को मान्यता दी जाएगी।
  • BAMS/BDS/MBBS करने वाले छात्रों की डिग्री सरकारी स्कूलों से पढ़ाई करने पर ही मान्य होगी।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना आवेदन प्रक्रिया

  • अगर आप संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको इस योजना में आवेदन करना है, आवेदन करने की प्रक्रिया नीचे निम्नलिखित दी गई है।
  • इसके लिए आपको सबसे पहले अपने नजदीकी श्रम कार्यालय या तहसील में जाना होगा।
  • वहां से Sant Ravidas Shiksha Sahayata Schedule Application Form लेकर आना होगा।
  • उस आवेदन फार्म में पूछी गई सभी जानकारी को सही-सही भर कर उसके साथ जरूरी दस्तावेजों को लगा देना है।
  • इसके बाद इस आवेदन फार्म को ले जाकर श्रम कार्यालय में जमा कर देना होगा।
  • आपके आवेदन फार्म की श्रम विभाग अधिकारियों के द्वारा जांच की जाएगी, अगर आपका आवेदन सही पाया जाता है। तो आपको भी Sant Ravidas Shiksha Sahayata Scheme का लाभ दिया जाएगा।
  • इस प्रकार से आपका संत रविदास शिक्षा सहायता स्कीम में आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाती है।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के लिए दस्तावेज

  • बैंक अकाउंट का विवरण
  • स्कूल का प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर

Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana के लिए पात्रता

अगर आप उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा शुरू किया गया संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का लाभ उठाना चाहते हैं। तो इसके लिए आपके पास निम्नलिखित पात्रताएं होनी चाहिए।

  • Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana के अंतर्गत छात्रवृत्ति प्राप्त करने के लिए छात्रों के माता-पिता का उत्तर प्रदेश श्रमिक बोर्ड में पंजीकृत होना अनिवार्य है।
  • उत्तर प्रदेश के रहने वाले छात्र ही इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • गरीब श्रमिक परिवार के अधिकतम दो बच्चों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी की उम्र 18 साल से ऊपर और 35 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • स्कूल/कॉलेज/संस्थान में लाभार्थी छात्र की उपस्थिति 60% से ऊपर होनी चाहिए, जो प्रधानाचार्य या समक्ष अधिकारी के द्वारा प्रमाणित होना चाहिए।
  • अगर छात्र किसी अन्य छात्रवृत्ति योजना का लाभ उठा रहा है, तो उसे Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana का लाभ नहीं दिया जाएगा।
  • सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त स्कूलों, कालेजों, संस्थानों में प्रवेश लेने वाले छात्रों को ही इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ पाने के लिए लाभार्थी के पास किसी राष्ट्रीयकृत बैंक में अकाउंट होना अनिवार्य है।

नोट : चिकित्सा में डिग्री का अर्थ है एमबीबीएस, बीडीएस, बीएएमएस, बीएचएमएस, बीएएमएस जैसे कोर्स, शासकीय चिकित्सा कॉलेजों में अध्ययन करने वाले छात्रों/छात्राओं को ही इस योजना का लाभ दिया जाएगा।

Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana Helpline Number

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के विषय में हमने आपको पूरी जानकारी इस आर्टिकल में दी हुई है। लेकिन अगर आप फिर भी इस योजना से संबंधित किसी प्रकार की कोई जानकारी पाना चाहते हैं, तो आप संत रविदास शिक्षा सहायता योजना हेल्पलाइन नंबर 1800-180-5412 पर संपर्क कर सकते हैं।

FAQs

1. संत रविदास शिक्षा सहायता योजना क्या है?

उत्तर प्रदेश के गरीब श्रमिक परिवार के बच्चों को पढ़ाई करने के लिए छात्रवृत्ति देने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana की शुरुआत की है।

2. Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana के अंतर्गत कितनी छात्रवृत्ति दी जाती हैं?

इस योजना के अंतर्गत ₹100 से लेकर ₹5000 तक की छात्रवृत्ति धनराशि दी जाती हैं, जो अलग-अलग कक्षाओं के लिए अलग-अलग छात्रवृत्ति धन राशि निर्धारित की गई है।

3. Sant Ravidas Shiksha Sahayata Scheme के अंतर्गत किन छात्रों को लाभ दिया जाएगा?

संत रविदास शिक्षा सहायता स्कीम के अंतर्गत कक्षा 1 से लेकर 12 तक के छात्र और सरकारी संस्थानों से आईटीआई, पॉलिटेक्निक, मेडिकल या उसके समकक्ष कोर्स करने वाले छात्रों को लाभ दिया जाएगा।

4. संत रविदास शिक्षा सहायता स्कीम का संचालन किस विभाग के द्वारा किया जाता है?

श्रम विभाग उत्तर प्रदेश के द्वारा Sant Ravidas Shiksha Sahayata Scheme का संचालन किया जाता है।

5. Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana Official Website क्या है?

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना की आधिकारिक वेबसाइट

इसे भी पढ़ें 👇

उत्तर प्रदेश पुलिस सैलरी स्लिप
विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना
उत्तर प्रदेश कर्ज माफी की लिस्ट कैसे देखें
मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना
यूपी ट्राफिक पुलिस चालान लिस्ट
उत्तर प्रदेश शादी अनुदान स्टेटस चेक कैसे करें
यूपी गन्ना पर्ची कलेंडर कैसे देखें
उत्तर प्रदेश परिवार रजिस्टर नक़ल
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

1 thought on “संत रविदास शिक्षा सहायता योजना । पात्रता, दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया”

Leave a Comment