आयुष्मान कार्ड से कौन कौन सी बीमारी का इलाज होता हैं?

Ayushman Card Bimari List : दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं आयुष्मान भारत योजना के तहत यदि आपका आयुष्मान भारत कार्ड बना हुआ है, तो आप आयुष्मान योजना से पंजीकृत किसी भी निजी और सरकारी हॉस्पिटल में बिल्कुल मुफ्त ₹500000 तक का इलाज करवा सकते हैं. इसलिए अगर आपका भी आयुष्मान भारत कार्ड बना है, तो चलिए जान लेते हैं कि आयुष्मान कार्ड से कौन-कौन सी बीमारी का इलाज होता है. क्योंकि जब आपको पता होगा कि आयुष्मान कार्ड से कौन-कौन सी बीमारी का इलाज होता है, तभी आप आयुष्मान कार्ड का फायदा उठा सकते हैं.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के माध्यम से सरकार पूरे देश में जितने भी गरीब परिवार हैं, प्रत्येक परिवार को हर साल ₹500000 तक का मुफ्त इलाज का सुविधा देती है. यानी कोई भी गरीब परिवार अगर वह भारत आयुष्मान योजना का लाभार्थी है, तो वह 1 साल में ₹500000 तक का बिल्कुल मुफ्त इलाज करवा सकता है.

आयुष्मान भारत योजना के तहत 1570 से अधिक बीमारियों या शारीरिक समस्याओं का इलाज पंजीकृत सरकारी अथवा निजी अस्पताल में कराया जा सकता है. गरीब परिवार के अलावा अब कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIS) के लाभार्थी तथा केंद्रीय सशस्त्र सुरक्षा बल (CAPF) के जवान भी इस योजना के अंतर्गत बिल्कुल मुफ्त इलाज करवा सकते हैं. चलिए इस लेख में आगे हम जानते हैं कि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत कौन-कौन सी बीमारियों को शामिल किया गया है. और आप आयुष्मान कार्ड से कौन कौन सी बीमारी का इलाज करवा सकते हैं.

आयुष्मान कार्ड से कौन कौन सी बीमारी का इलाज होता हैं?

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत कुल 1570 प्रकार की बीमारियों को शामिल किया गया है. यानी अगर आपका आयुष्मान कार्ड बना है, तो आप 1570 प्रकार की बीमारियों का इलाज बिल्कुल मुफ्त करवा सकते हैं. भारत सरकार की ओर से जारी नई लिस्ट HBP 2.0 (Health Benefit Package) में कुल 1570 बीमारियों के नाम, बीमारियों के ट्रीटमेंट पैकेजों की संख्या, पैकेजों में शामिल चिकित्सा प्रक्रियाओं की संख्या, आदि की जानकारी उन नीचे विस्तार से दी गई है.

क्रमस्वास्थ्य समस्या (speciality)
का प्रकार
स्पेशलिटी में शामिल
ट्रीटमेंट पैकेजों की संख्या
ट्रीटमेंट पैकेजों में शामिल
चिकित्सा प्रक्रियाओं की संख्या
1.Urology
(मूत्र रोग से जुड़े इलाज)
94143
2.Surgical Oncology
(कैंसर का ऑपरेशन)
76120
3.Radiation Oncology
(कैंसर का रेडिएशन थेरेपी से इलाज)
1435
4.Polytrauma
(गंभीर चोटों के कारण शरीर में
पैदा हुईं समस्याओं का इलाज)
1021
5.Plastic & Reconstructive Surgery
(प्लास्टिक सर्जरी और अंग सुधार
संबंधी सर्जरी वाले इलाज)
812
6.Pediatric surgery
(छोटे बच्चों का ऑपरेशन)
1935
7.Pediatric Medical management
(छोटे बच्चों से जुड़े इलाज )
4665
8.Otorhinolaryngology
(कान, नाक और गले से
संबंधित समस्याओं का इलाज)
3578
9.Orthopaedics
(विकलांगता से जुड़ी
समस्याओं का इलाज)
71132
10.Oral and Maxillofacial Surgery
(मुख, जबड़े, चेहरे से जुड़ी
समस्याओं का इलाज)
79
11.Ophthalmology
(आंखों से जुड़ी समस्याओं
का इलाज)
4053
12.Obstetrics & Gynecology
(प्रसूति/प्रजनन अंगों से जुड़ी
समस्याओं का इलाज )
5977
13.Neurosurgery
(मस्तिष्क व तंत्रिका तंत्र से जुड़ी
समस्याओं का इलाज)
5482
14.Neo-natal care Packages
(नवजात शिशुओं से जुड़ी
समस्याओं का इलाज)
1010
15.Mental Disorders
(मानसिक विकारों से जुड़े इलाज)
1010
16.Medical Oncology
(कैंसर से जुड़े इलाज)
71263
17.Interventional Neuroradiology
(आंतरिक तंत्रिका विकिरण
संबंधी इलाज)
1015
18.General Surgery
(सामान्य आॉपरेशन वाले इलाज)
98152
`19.General Medicine
(सामान्य चिकित्सा से जुड़े इलाज )
7698
20.Emergency Room Packages
(आपातकालीन रूम पैकेज)
(जिनमें 12 घंटे से कम भर्ती की जरूरत हो)
34
21.Cardiothoracic & Vascular surgery
(हृदय-छाती और वाहिकाओं से जुड़े इलाज )
34113
22.Cardiology
(हृदय रोग से जुड़े इलाज)
2026
23.Burns Management
(जलने-कटने या घाव संबंधी
शारीरकि समस्याओं का इलाज)
620
24.Unspecified Surgical Package
(अन्य कोई रोग जो ऊपर बताई गई
Specialities में शामिल नहीं है)
11

किस किस तरह के खर्चों को इलाज का खर्च माना जाएगा?

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं आयुष्मान भारत योजना के तहत गरीब परिवार 1 साल में ₹500000 तक का बिल्कुल मुफ्त इलाज करवा सकता है. इलाज कराने के दौरान निम्नलिखित खर्चों को इलाज के खर्च में शामिल किया जाएगा. जो इस प्रकार है-

  • मरीज के भोजन पर हुआ खर्च
  • मरीज को नर्सिंग होम में ठहरने का खर्च
  • मरीज को परामर्श लेने पर खर्च
  • मरीज के जांच पर हुआ खर्च
  • मरीज के दवाओं पर हुआ खर्च

HBP 1.0 तथा HBP 2.0 क्या है?

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं, कि गरीब परिवार आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 1 साल में ₹500000 तक का इलाज करवा सकता है. लेकिन हर बीमारी के इलाज के लिए अधिकतम पेमेंट की लिमिट तय की गई है इसलिए इन्हें HBP (Health Benefit Package) का नाम दिया गया है जो मुख्यता दो भागों में बांटा गया है.

Health Benefit Package (HBP 1.0) क्या हैं?

आयुष्मान भारत योजना वर्ष 2018 में लांच की गई थी, तो उस समय इस योजना के अंतर्गत कुल 1393 प्रकार की बीमारियों को लिस्ट में शामिल किया गया था. जिसे कुल 25 विभागों में बांटा गया था. जिसे नाम दिया गया Health Benefit Package. 1393 इलाज पैकेजों में 309 पैकेज मेडिकल संबंधी, 1083 पैकेज सर्जरी संबंधी, 1 पैकेज अन्य बीमारी के लिए हैं. 

लेकिन Health Benefit Package (HBP 1.0) में कुछ खामियां नजर आई, जिसके बाद Health Benefit Package (HBP 2.0) लिस्ट तैयार किया गया है.

Health Benefit Package (HBP 2.0) क्या हैं?

2020 में दूसरी चरण में Health Benefit Package (HBP 2.0) लिस्ट जारी किया गया, जिसमें कुल 1574 प्रकार के इलाज़ पैकेज को शामिल किया गया था. जिसे कुल 24 स्पेशलिटीज (विभागों) में बांटा गया था. जिसमें कुल 260 पैकेज मेडिकल संबंधी, 612 पैकेज सर्जरी संबंधी, 872 ट्रीटमेंट पैकेज संबंधी शामिल हैं.

इसके अलावा अगर आप चाहे तो प्रधानमंत्री आरोग्य योजना के तहत सभी इलाजों के नाम, ट्रीटमेंट पैकेजों की संख्या, चिकित्सा प्रक्रियाओं की संख्या इस लिंक – Click here पर क्लिक कर के चेक कर सकते हैं. 

आयुष्मान कार्ड से कौन-कौन सी बीमारी का इलाज करवा सकते है?

आयुष्मान कार्ड से लगभग 1574 बीमारियों का इलाज करवा सकते हैं. उनमें से कुछ प्रमुख बीमारियां इस प्रकार है-

  • नवजात शिशु का इलाज
  • मूत्र रोग से संबंधित इलाज
  • छोटे बच्चे का ऑपरेशन
  • मानसिक रोग का इलाज
  • दुर्घटना में जख्मी होने पर इलाज
  • नाक कान मुंह चेहरे से जुड़े बीमारी का इलाज
  • विकलांगता से जुड़ी बीमारी का इलाज
  • न्यूरो सर्जरी का इलाज
  • हार्ट सर्जरी का इलाज
  • रेडिएशन थेरेपी का उपचार
  • कीमोथेरेपी का इलाज
  • सिटी स्कैन
  • दातों की सर्जरी
  • आंखों की सर्जरी
  • टीवी का इलाज
  • कैंसर का इलाज
  • ऐसे और भी बीमारियों का इलाज करवा सकते हैं

आयुष्मान कार्ड में कौन-कौन सी बीमारी आती है PDF Download 

  • आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत जिन बीमारियों को शामिल किया गया है, उन बीमारियों की सूची इस आर्टिकल में ऊपर दिया गया है. लेकिन अगर आप ऑनलाइन आयुष्मान योजना कार्ड में शामिल बीमारियों की लिस्ट देखना चाहते है, तो आपको योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा.
  • आयुष्मान भारत योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर आने के बाद आपको Menu पर क्लिक कर देना है.
  • Menu पर क्लिक करने के बाद आपको Hospital के अंतर्गत दिखाई दे रहे आप्शन चित्र में दिखाई दे रहे तीर के सामने “Health Benefit Packages पर क्लिक कर देना है.
  • यहां पर आपको Health Benefit Package 2.0 पर क्लिक करके PDF Download कर सकते हैंI और उसमें आयुष्मान भारत योजना के तहत शामिल बीमारियों की लिस्ट चेक कर सकते है.

आयुष्मान भारत योजना के तहत इलाज किसे मिल सकता हैं?

आयुष्मान भारत योजना के तहत हर साल ₹500000 तक का मुफ्त इलाज प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत लाभार्थी व्यक्तियों को दिया जाता है. लेकिन आयुष्मान भारत योजना के तहत 3 तरह के लोगों को शामिल किया गया है, जो आयुष्मान योजना का लाभ उठा सकते हैं. 

CAPF सुरक्षा कर्मी

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल कर्मचारियों के अलावा निम्नलिखित कैटेगरी के केंद्रीय सुरक्षाकर्मियों और उनके परिवार को भी आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत मुफ्त इलाज की सुविधा मिलेग. इस योजना के अंतर्गत 3500000 से अधिक सीएपीएफ कर्मचारी और उनके परिवार के सदस्यों को बिल्कुल कैशलेस इलाज का लाभ मिल सकेगा. केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के अंतर्गत निम्नलिखित केंद्रीय सुरक्षा कर्मियों को शामिल किया गया है.

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड NSG
भारत तिब्बत सीमा पुलिस ITBP
केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल CRPF
केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल CISF
सशस्त्र सीमा बल SSB
असम राइफल्स Assam Rifles
सीमा सुरक्षा बल BSF 

नोट : आयुष्मान भारत योजना के तहत ₹500000 तक का बिल्कुल मुफ्त इलाज मिलता है. लेकिन केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के कर्मचारी और उनके परिवार को आयुष्मान भारत योजना के तहत इलाज में होने वाले खर्च की सीमा निश्चित नहीं की गई है. यानी वे पूरी तरह से ठीक होने तक सारा इलाज बिल्कुल मुफ्त में इस योजना के अंतर्गत करवा सकते हैं. 

ESIC के लाभार्थी

राज्य कर्मचारी जो कर्मचारी राज्य बीमा निगम के तहत इलाज का लाभ प्राप्त करते हैं, वे भी अब आयुष्मान भारत योजना के तहत पंजीकृत सरकारी और निजी अस्पताल में इलाज करवा सकते हैं. क्योंकि राज्य बीमा निगम योजना को आयुष्मान भारत योजना में विलय कर दिया गया है. अब देश के लगभग 113 जिले के 1.35 करोड़ लाभार्थी आयुष्मान भारत योजना के तहत कैशलेस इलाज का लाभ प्राप्त कर सकेंगे.

SECC सूची में शामिल नागरिक

 2011 के सामाजिक आर्थिक और जाति जनगणना में भारत के जिन नागरिकों का नाम शामिल है, वे भी आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठा सकते हैं. 2011 जनगणना सूची में शामिल लगभग 50 करोड लोग आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठा सकते हैं.

आयुष्मान कार्ड के संबंधित बीमारियों की जानकारी

सरकार ने आयुष्मान भारत योजना के तहत आने वाली बीमारियां जैसे : मलेशिया, मोतियाबिंद, सर्जिकल डिलीवरी, नसबंदी, गैंगरीन समेत 196 प्रकार की बीमारियों को निजी अस्पताल से बाहर कर दिया है. इन बीमारियों का इलाज अब निजी अस्पताल में ना होकर केवल सरकारी अस्पतालों में किया जाएगा. आयुष्मान योजना के 1760 प्रकार की बीमारियां में से 196 बीमारी को निजी अस्पताल से हटा देने के कारण सबसे ज्यादा परेशानी छोटी जिले व ग्रामीण क्षेत्र के मरीजों को होंगी. 

सरकार द्वारा जारी आदेश 1 जनवरी 2021 के अनुसार निजी अस्पतालों से निम्नलिखित बीमारियां को हटा दिया गया है. यह बीमारियां इस प्रकार है- अपेंडिस्क, मलेरिया, हर्निया, पाइल्स, हाइड्रोसील, पुरुष नसबंदी, डिसेंट्री, एचआईवी, विथ कांप्लिकेशन, बच्चेदानी ऑपरेशन, हाथ पांव काटने की सर्जरी, मोतियाबिंद, पट्टा चढ़ाना, गांठ संबंधित बीमारी, इनफेक्टेड बनियान फूट, रेनल कालिक, यूटीआई, आंतों का बुखार आदिI इन सभी बीमारियों का इलाज निजी अस्पतालों में ना होकर केवल सरकारी अस्पतालों में किया जाएगा. 

आयुष्मान का लाभ उठाने वाले लगभग 80% मरीज अपना इलाज निजी अस्पतालों में कराते हैं. क्योंकि सरकारी अस्पतालों में गंभीर बीमारियों की बेहतर व्यवस्था नहीं होती है.

FAQ

1. आयुष्मान कार्ड में क्या-क्या फ्री है?

आयुष्मान कार्ड के अंतर्गत ₹500000 तक का इलाज 1 साल में बिल्कुल मुफ्त करवा सकते हैं. आयुष्मान योजना के अंतर्गत 1574 प्रकार की बीमारियों को शामिल किया गया है.

2. क्या आयुष्मान कार्ड प्राइवेट हॉस्पिटल में इस्तेमाल किया जा सकता है?

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत प्राइवेट और सरकारी अस्पताल को जोड़ा गया है. इसलिए आप आयुष्मान कार्ड की मदद से इस योजना द्वारा पंजीकृत किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में अपना इलाज करवा सकते हैं.

3. आयुष्मान कार्ड में कौन कौन से हॉस्पिटल आते हैं

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत प्रत्येक राज्य के कई सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल को शामिल किया गया है. आप इस लिंक पर क्लिक करके अपने क्षेत्र में आयुष्मान योजना के अंतर्गत आने वाले हॉस्पिटल की लिस्ट देख कर सकते हैं.

4. आयुष्मान भारत में कितनी बीमारियां शामिल है?

आयुष्मान भारत योजना में लगभग 1574 बीमारियों को शामिल किया गया है.

5. आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

आयुष्मान योजना के अंतर्गत आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए निम्नलिखित योग्यता चाहिए- आवेदक भारत का निवासी हो, आवेदक की उम्र 18 वर्ष से ऊपर हो, आवेदक का नाम 2011 जनगणना सूची में होना चाहिए, आवेदक खाद्य पर्ची धारक परिवार से होना चाहिए.

इसे भी पढ़ें 👇

आयुष्मान कार्ड कौन बनवा सकता हैं
हॉस्पिटल में आयुष्मान कार्ड से इलाज कैसे करवाएं
यूपी आयुष्मान कार्ड डाउनलोड कैसे करें
छत्तीसगढ़ आयुष्मान कार्ड कैसे निकालें
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment